“प्रयास एक परिवर्तन का” परिवार ने पितृ पक्ष में 10000 से ज्यादा जरुरतमंदो के लिए भोजन व्यवस्था कर पूर्वजों का किया नमन

60

“प्रयास एक परिवर्तन का” परिवार ने पितृ पक्ष में 10000 से ज्यादा जरुरतमंदो के लिए भोजन व्यवस्था कर पूर्वजों का किया नमन

गोरखपुर।
प्रयास एक परिवर्तन का, परिवार के संस्थापक प्रवीण कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि पितृ पक्ष में प्रथम दिवस 11 सितम्बर से आज 25 सितम्बर में लगातार 15 दिन भोजन वितरण किया गया जिसमें हजारों की संख्या में लोगों को तृप्ति मिली।
भोजन वितरण मुख्यत अन्नपूर्णा भोजनालय, रेलवे स्टेशन, नक्को बाबा की मजार, कुष्ठ आश्रम के साथ साथ भिन्न भिन्न स्थानों पर भी वितरित किया गया। अन्नपूर्णा मुहिम में दस लाख जरूरतमंदों को भोजन उपलब्ध कराने में 26 फरवरी से संचालित अन्नपूर्णा भोजनालय, से जन जन के सहयोग से अब तक एक लाख से ज्यादा लोगों को भोजन उपलब्ध कराने की व्यवस्था हुई है।
पितृ पक्ष हम हिन्दू लोग अपने अपने पूर्वजों के लिए दान पूजा अपनी श्रद्धानुसार जरूर करते हैं ।इसी विचार को ध्यान में रखकर इस बार प्रतिदिन भोजन वितरण किया गया है। प्रयास एक परिवर्तन का परिवार के पितृ पक्ष में अबतक के सेवाओं में किसी तरह का सहयोग किये सभी संवेदनशील जनों के पूर्वजों को समर्पित है। लोगो को भोजन वितरण करने में विशेष रूप से सुरेन्द्र नाथ यादव, प्रफुल्ल नगरकार, प्रतीक,शरद खंडेलवाल, मनकेश्वर नाथ पांडेय, डॉo हर्ष वर्धन राय,संचल, वीरेंद्र कुमार,के एम श्रीवास्तव, देवर्षि, अभिषेक,दुर्गेश,अभय, अल्पना, प्रेरणा, विवेक अग्रवाल, संजय वर्मा, संगीता श्रीवास्तव, तृप्ति स्वरूप, राकेश सिन्हा, हरी शंकर, ओम प्रकाश, रमेश कुमार, विनोद कुमार, अजय कुमार,कमला मौर्या,अंकुर कुमार,अनुराग श्रीवास्तव, शिखा वर्मा, दीपक, अमित वी के सोनी, प्रीति मल्ल, अनुपमा, देवयानी पांडेय, मीरा करमचंदनी, संगीता मल्ल, राकेश गोयल, का सहयोग रहा।
आप सभी संवेदनशील पत्रकार बंधुओं/ समाचार पत्रों के माध्यम से प्रवीण कुमार श्रीवास्तव ने संवेदनशील जनों से रोज भोजन वितरण द्वारा दस लाख जरूरतमंदों को भोजन उपलब्ध कराने की अन्नपूर्णा मुहिम में यथा सम्भव सहयोग का अनुरोध किया है,सेवाओं में राशन उपलब्ध कराने के अलावा मात्ररु 25 एक व्यक्ति के भोजन के लिए, से आप सहयोग कर सकते हैं। अपने/अपनों के जन्मदिन पर, वैवाहिक वर्षगांठ पर या अपनों की स्मृति में, आने वाली नवरात्रि में कन्या पूजन के साथ साथ नर सेवा नारायण सेवा, अन्न दान जीवन दान के विचार से जरुरतमंदो को भोजन उपलब्ध कराने में सहयोग कर सकते हैं।
प्रयास एक परिवर्तन का, परिवार आप सभी संवेदनशील जनों के सहयोग से विगत कई वर्षों से हर साल होली, दीपावली एवं जाड़े में वृद्धाश्रम में बृद्धजनों, व कुष्ठाश्रम में कुष्ठ रोगियों के लिए में नए कपड़े, कंबल, मिठाई, अबीर गुलाल,फल ,दीया, तेल ,आदि उपलब्ध कराता है, इस वर्ष भी दीपावाली पूर्व उन लोगों को नए कपड़े आदि उपलब्ध कराने में आप सभी संवेदनशील जनों से यथा संभव सहयोग अपेक्षित , हमारे जीवन में उत्सव के प्रकाश के साथ साथ उन लोगों के जीवन में भी खुशहाली आए, हम सभी प्रसन्नता का अनुभव करें।

(सुधीर श्रीवास्तव)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here