छत्तीसगढ़ के कवि राकेश गुप्त हिंदी सभा के सलाहकार बने

42

छत्तीसगढ़ के कवि राकेश गुप्त हिंदी सभा के सलाहकार बने

जबलपुर ।
प्रेरणा हिंदी प्रचारिणी सभा में साहित्य का एक और सितारा प्रेरणा सलाहकार मंडल में शामिल होकर हिंदी प्रचार प्रसार में अपना योगदान देने हेतु शामिल हुए हैं। कवि संगम त्रिपाठी ने दिनांक 21.09.2022 को जारी विज्ञप्ति में बताया कि श्री राकेश गुप्त निर्मल छत्तीसगढ़ अंचल के सुप्रसिद्ध कवि संस्थापक, संयोजक “कविता चौराहे पर” व अध्यक्ष संस्कार भारती इकाई मुंगेली, सहसंयोजक आगर साहित्य समिति मुंगेली, उपाध्यक्ष राष्ट्रीय कवि संगम मुंगेली के पदों पर कार्य करते हुए साहित्य सेवा कर रहे हैं।
कवि राकेश गुप्त निर्मल हास्य व्यंग्य विधा में कविताएं करते हैं व उनकी लघुकथा भी विभिन्न समाचार पत्रों में प्रकाशित होती रहती है। कवि राकेश गुप्त निर्मल जी को विभिन्न संस्थाओं ने सम्मानित भी किया है।
कविता चौराहे पर के माध्यम से प्रतिष्ठित ही नहीं बल्कि छिपी हुई प्रतिभा एवं नव हस्ताक्षर को मंच देने हेतु सार्थक प्रयास में तत्पर समसामयिक रचना को प्रकाशित कर मुंगेली छत्तीसगढ़ शहर के चौराहे पर हर आम आदमी के पठन हेतु लगाते हैं जो कि बहुत ही चर्चित कार्य है।
कवि राकेश गुप्त निर्मल के सलाहकार बनने पर सर्वश्री डॉ लाल सिंह किरार, सुषमा खरे, मंजुला साहू निर्भीक, अरविंद अकेला, झरना मुखर्जी, डॉ हरेन्द्र हर्ष, सुव्रत दे, सुधीर श्रीवास्तव, माला श्रीवास्तव, पूजा अग्रवाल, शैलेश सिंह कुशवाहा, किशनलाल अग्रवाल, कृपा शंकर तिवारी, कृष्ण कुमार सिंह, अजय पांडेय, नेमा खगेश के शाह, अशोक कुमार यादव, डॉ सत्य नारायण तिवारी आदि ने बधाई दी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here