लायन्स क्लब खण्डवा ने युवा सप्ताह में किया कार्तिकेय जायसवाल का सम्मान

जीवन का दिशा निर्देशन अपनी अंतरात्मा की आवाज से करे-कार्तिकेय जायसवाल

लायन्स क्लब खण्डवा ने युवा सप्ताह में किया कार्तिकेय जायसवाल का सम्मान

खण्डवा।
अपने जीवन का निर्धारण इस प्रकार से करे कि वह दूसरों के लिए उपयोगी हो।कड़ा परिश्रम व संघर्ष सफलता के लिए जरूरी है। सबसे कीमती समय है समय का सदुपयोग करे। नियत साफ रखें इससे आप परिणामों में परिवर्तन देखेंगे। स्वयं पर भरोसा रखें।अपनी सोच को सकारात्मक रखे। सही और गलत का ध्यान रखते हुए हम सही दिशा में परिश्रम करके ही आगे बढ़ सकते है। उपरोक्त उदगार आईएएस सिविल सेवा परीक्षा में कम आयु में प्रथम प्रयास में चयनित होकर खण्डवा को गौरवान्वित करने वाले कार्तिकेय जायसवाल ने लायन्स क्लब खण्डवा द्वारा आयोजित लायन्स युवा सप्ताह के द्वितीय दिवस परियोजना संयोजक सागर आरतानी, हेमलता पालीवाल, मधुबाला शेलार के संयोजन में उत्कृष्ट विद्यालय खण्डवा में आयोजित युवा व राष्ट्र सेवा कार्यक्रम में व्यक्त किये। जानकारी देते हुए लायन्स इमेज बिल्डिंग डिस्ट्रिक्ट चेयरमेन नारायण बाहेती ने बताया कि उत्कृष्ट विद्यालय में आयोजित कार्यशाला में माँ सरस्वती के चित्र पर माल्यार्पण व दीप प्रज्वलन से प्रारंभ हुई। अध्यक्ष अखिलेश गुप्ता ने स्वागत उदबोधन दिया। कार्यशाला में सर्वप्रथम कार्तिकेय जायसवाल का सम्मान शाला के 200 से अधिक छात्र छात्राओं के सामने किया गया। हेमलता पालीवाल ने कार्तिकेय जायसवाल का परिचय करवाया। शहर के सबसे युवा पूर्व पार्षद सागर आरतानी ने छात्रों को भविष्य का राष्ट्र निर्माता बताते हुए बताया कि हम किस प्रकार देश की सेवा कर सकते हैं। कार्तिकेय जायसवाल ने छात्रों को अपने कैरियर बनाने हेतु स्वयं के अनुभव व अनेको उदाहरणों के माध्यम से विस्तृत रूप से अपनी बात रखी। कार्तिकेय जायसवाल ने छात्रों द्वारा पूछे गए प्रश्नों का जवाब देकर उनकी जिज्ञासा को शांत किया। इस अवसर पर दिनेश श्रीवंश, मधुबाला शेलार, हीरालाल जोशी, हेमलता पालीवाल, घनश्याम वाधवा, नारायण बाहेती, अखिलेश गुप्ता, राजीव मालवीय, प्रवीण शर्मा, सुभाष केशोरे व लायन सदस्यों ने मार्गदर्शन कर सहयोग प्रदान किया। कार्यक्रम का प्रभावी संचालन भारती पराशर ने एवं आभार राजीव मालवीय, घनश्याम वाधवा ने संयुक्त रूप से माना।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here