हमारे विचार, आचार और संस्कारों की विशुद्धि ही मोक्ष मार्ग का हेतु है–क्षु.विस्मिताश्री

हमारे विचार, आचार और संस्कारों की विशुद्धि ही मोक्ष मार्ग का हेतु है–क्षु.विस्मिताश्री

क्षुल्लिका संघ का हुआ नगरागमन, पाद प्रक्षालन कर की मंगल अगवानी

खंडवा।
धर्म का मूल सम्यक् दर्शन है। देव, शास्त्र और गुरू के प्रति सच्चा श्रद्धान ही सम्यक दर्शन है। सम्यक, निर्विकार भाव ही हमारे चारित्र को निर्मलता प्रदान करता है। जैन आगम व जिन शासन के प्रति हमारी श्रद्धा सुमेरु पर्वत की तरह अडिग और अविच्छिन्न होनी चाहिए। अपने धर्म व धर्म गुरुओं के प्रति अगाध श्रद्धा व दृढ़ विश्वास ही हमें मोक्ष मार्ग की ओर ले जा सकता है। हमारे विचार, आचार, संस्कार और कर्मों की विशुद्धता ही मोक्ष मार्ग का साधन है। यह उद्गार पूज्य क्षुल्लिका विस्मिताश्री एवं विगम्याश्री माताजी ने खण्डवा नगर प्रवेश पर समाजजनों को संबोधित करते हुए कही। उन्होंने संस्कारों की शिक्षा पर बल देते हुए कहा कि आज अनुयोग के चारों प्रकार ,उनकी विशेषता,वर्गीकरण और मूल सिद्धांत का पालन करना अनिवार्य हो गया है।
समाज के सचिव सुनील जैन ने बताया कि क्षुल्लिका संघ को बैंड बाजे व जैन धर्म के नारों के साथ मुनिसुव्रतनाथ मन्दिर लाया गया। समाजजनों द्वारा अपने घरों के सामने द्वय माताजी के पाद प्रक्षालन एवम आरती कर आशीर्वाद लिया। नवकार नगर के पंकज भानुकुमार सेठी ने बताया कि गणाचार्य विरागसागरजी महाराज के संघस्थ पूज्य क्षुल्लिका संघ के चातुर्मास का सौभाग्य खंडवा नगर को प्राप्त हुआ है।
चातुर्मास अवधि के दौरान संघ के सानिध्य में विविध धार्मिक, सामाजिक, सांस्कृतिक आयोजनों का लाभ खंडवा शहर को मिलेगा। इससे पूर्व नवकार नगर में प्रवेश कर संघ के सान्निध्य में देव दर्शन, पूजन, अभिषेक हुए।
इस अवसर पर संघ के साथ पैदल विहार में सहयोगी रही बड़वाह निवासी गुरु भक्त रश्मिता कमल जैन एवं लब्धि जैन बड़वाह का सम्मान भी किया गया। रश्मि कमलेश जैन, प्रीति लुहाडिय़ा व स्वानुभूति जैन ने मंगलाचरण एवं दीप प्रज्वलन विजय सेठी, सुभाष जी सेठी ने किया। नवकार नगर ट्रस्ट मंडल के मनीष पाटनी, राजेन्द्र छाबड़ा, अशोक पाटनी ने श्रीफल भेंट कर आशीर्वाद प्राप्त किया। आहारचर्या का सौभाग्य प्रदीप पंकज छाबड़ा एवं पवन गदिया परिवार को मिला। नवकार नगर में प्रतिदिन प्रात: 8 बजे प्रवचन होंगे। मुनि सेवा ट्रस्ट के विजय सेठी, अविनाश जैन, पंकज जैन महल, पवन गदिया, दिलीप पहडिय़ा ने अपील की है कि अधिक से अधिक श्रद्धालु अम्रत वचन श्रवण कर पुण्यार्जन करें। संपूर्ण कार्यक्रम में बड़ी संख्या में खंडवा जैन समाज एवं गणमान्यजन उपस्थित थे।
अमृता यादव ने माताजी के दर्शन कर लिया आशीर्वाद
दादाजी की पावन नगरी में दिगम्बर जैनाचार्य श्री विरागसागर जी महाराज की सुयोग्य शिष्या क्षुल्लिका विस्मिताश्री एवम विगम्याश्री माताजी का खण्डवा में मंगल प्रवेश शनिवार प्रात: 7 बजे हुआ। समाज के सचिव सुनील जैन ने बताया कि माताजी की मंगल अगवानी समाजजनों के साथ ही महापौर प्रत्याशी अमृता अमर यादव द्वारा की गई। इस अवसर पर अमृता यादव ने माता जी को श्रीफल भेंट कर आशीर्वाद प्राप्त किया। समाजजनों ने अमृता, अमर, मंगल यादव एवं पार्षद प्रत्याशी राजेश यादव का तिलक लगाकर मोती की माला पहनाकर स्वागत किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here