अद्भुत कार्यक्रम बिना ब्रेक बारह घण्टे का घनाक्षरी घमासान आयोजन

अद्भुत कार्यक्रम बिना ब्रेक बारह घण्टे का घनाक्षरी घमासान आयोजन

साहित्य संगम संस्थान में…घनाक्षरी शाला मे
लाइव जुडेगे..अस्सी से अधिक रचनाकार.

राष्ट्र की बात हो या हिन्दी साहित्य के विकास की साहित्य संगम संस्थान नई दिल्ली का अपना अलग ही अंदाज होता रहा है। हिन्दी साहित्य के विकास में एक के बाद एक अद्भुत, अद्वितीय कार्यक्रमों से न केवल साहित्य प्रेमियों बल्कि साहित्यकारों का भी मन मोह लिया है। साहित्य संगम संस्थान ने इलेक्ट्रॉनिक हिन्दी मीडिया जगत में अपने ऐतिहासिक कार्यक्रमों से तहलका मचाते हुए सभी का ध्यानाकर्षक किया है। इसी श्रृंखला में एक और जोरदार धमाका साहित्य संगम संस्थान की संगम घनाक्षरी शाला पर आयोजित किया जा रहा है, जिसमें बिना ब्रेक बारह घण्टे घनाक्षरी विधा का फेसबुक लाइव प्रोग्राम बहुत नायाब है। इस घनाक्षरी काव्य पाठ कार्यक्रम की सहयोगी संचालिका संगीता मिश्रा से मिली जानकारी के आधार पर यह कहा जा सकता है कि यह कार्यक्रम हिन्दी साहित्य के विकास के साथ-साथ घनाक्षरी विधान को पुनः लेखन क्षेत्र में जीवन्त करने का एक अद्भुत पहल स्वरूप है। इस अद्वितीय कार्यक्रम के प्रधान संचालक डॉ कुमार रोहित रोज़ ने बताया कि यह कार्यक्रम हिन्दी साहित्य जगत में एक और कीर्तिमान स्थापित करेगा, जिसमें देश-विदेश के तमाम घनाक्षरीविदों का जमावड़ा इस बात का गवाह बनेगा कि अभी भी घनाक्षरी विधान अपने चरम पर है। कार्यक्रम की तैयारियों, प्रस्तुतियों व प्रयोजनों का एक अलग ही अंदाज देखने को मिल रहा है, जिसे सह संचालक मिथलेश सिंह मिलिंद ने बहुत ही सुनियोजित ढंग से प्रस्तुत किया है। संस्थान की इस एक के बाद एक सफलता के पीछे संस्थान के समस्त सदस्यों का एकजुट होकर हिन्दी साहित्य के विकास के प्रति पूर्ण प्रतिबद्धता का प्रस्तुतिकरण ही है, वर्ना अकेले चना भाड़ नहीं फोड़ सकता, यह कथन संस्थान के राष्ट्रीय अध्यक्ष राज वीर सिंह मंत्र के द्वारा मीडिया के सम्मुख कहा गया। हिन्दी साहित्य के विकास में अपने नायाब कार्यक्रमों के माध्यम से वसुधैव कुटुम्बकम का भाव प्रेषित करता यह साहित्य संगम संस्थान इलेक्ट्रॉनिक हिन्दी मीडिया जगत का एक उदीयमान सूर्य है, जिसकी चर्चा तमाम समाचार पत्र-पत्रिकाओं के साथ-साथ इलेक्ट्रॉनिक मीडिया जगत के सभी प्लेटफॉर्म पर देखा जा सकता है। यह सम्पूर्ण घनाक्षरी घमासान कार्यक्रम संस्थान के मीडिया प्रभारी व उत्कृष्ट स्वतन्त्र लेखक राजेश कुमार पुरोहित की देखरेख में सम्पन्न होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here