विविध : मानवता के लिए योग – योगिनी निधि योग प्रशिक्षक,सागर

मानवता के लिए योग

योग मानव के शारीरिक और मानसिक दोनों स्वास्थ्य के लिए आवश्यक है। यह एक अमूल्य प्राचीन प्रथा है। यूं तो योग की महत्व किसी से छुपा नहीं है लेकिन इसका महत्व तब बढ़ गया जब कोरोना के कारण सभी घरों में बैठकर तनाव से ग्रस्त हो गए थे और लोगों की आवाजाही बंद हो गई थी। ऐसे मे मन को शांत रखने और शरीर को दुरुस्त रखने में योग ने ही मदद की थी। जीवन में योग के इसी महत्व को दर्शाने के लिए पूरा विश्व इंटरनेशनल योग डे (International Yoga Day 2022) मनाता है।

इंटरनेशनल योग डे देश भर में योग से होने वाले फायदों के विषय में जागरूकता फैलाने के लिए 21 जून को मनाया जाता है। इस साल यह इंटरनेशनल योग डे का 8वां संस्करण है। इंटरनेशनल योग डे 2022 के प्रदर्शन का मुख्य कार्यक्रम कर्नाटक के मैसूर में होगा जिसका नेतृत्व प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करेंगे।

इतिहास (International Yoga Day 2022 History)

इंटरनेशनल योग डे को वर्ल्ड योग डे भी कहा जाता है। पहली बार यह 21 जून 2015 को मनाया गया था। इसकी नींव भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा 27 सितंबर 2014 को संयुक्त राष्ट्र महासभा में योग से संबंधित एक प्रभावशाली भाषण के साथ रखी गई थी। उसी के बाद इसे 21 पर जून इसे इंटरनेशनल योग डे घोषित किया गया था। इसके साथ संयुक्त राज्य अमेरिका में 21 जून को इंटरनेशनल योग डे मनाने के प्रस्ताव को 193 सदस्यों ने 11 दिसंबर 2014 को मंजूरी दी थी।

थीम (International Yoga Day 2022 Theme)
हर वर्ष की तरह इस वर्ष भी इंटरनेशनल योग डे के लिए एक थीम रखी गया है। 2022 का थीम है Yoga for Humanity

महत्व (International Yoga Day 2022 Significance)
निश्चित ही योग पूरी दुनिया में स्वास्थ्य को चुनौती देने वाली बीमारियों को कम करने में मदद करता है। यह एक प्रैक्टिस है जो लोगों को एक दूसरे से जोड़ता है। साथ ही ध्यान का अभ्यास करने में मदद करता है और तनाव से राहत दिलाता है। योग स्वास्थ्य की सुरक्षा और सतत स्वास्थ्य विकास के बीच एक कड़ी प्रदान करता है। इसलिए हमें नियमित रूप से योग का अभ्यास करना चाहिए और इसे अपने जीवन का हिस्सा बनाना चाहिए।

योगिनी निधि
योग प्रशिक्षक

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here