काव्य सृजन सम्मान से तथा गोल्डन बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड सम्मानित हुई डॉ भावना शुक्ल

काव्य सृजन सम्मान से तथा गोल्डन बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड सम्मानित हुई डॉ भावना शुक्ल

दिल्ली।
साहित्य जगत में ख्याति प्राप्त डॉ भावना शुक्ल विविध विधाओं में कलम चलाने वाली आप जबलपुर के वरिष्ठ साहित्यकार डॉ राजकुमार तिवारी सुमित्र की सुपुत्री है।
दिनांक 15 मई 2022 को देश की राजधानी दिल्ली स्थित हिन्दी भवन में अंतरराष्ट्रीय शब्द सृजन संस्था के द्वारा कालजयी काव्य ग्रंथ ‘भारत के भारत रत्न’ का भव्य लोकार्पण एवं सम्मान समारोह संपन्न हुआ। इस कालजयी काव्य ग्रंथ के संपादक डॉ राजीव कुमार पाण्डेय है जब कि श्री ओंकार त्रिपाठी द्वारा इसे संकलित किया गया।इस अवसर पर साहित्यकार डॉ भावना शुक्ल को काव्य रत्न सम्मान तथा गोल्डन बुक ऑफ वर्ल्ड से सम्मानित भी किया गया।

इस अवसर पर मुंबई से पधारे
कार्यक्रम के मुख्य अतिथि सुदर्शन चैनल के अध्यक्ष, प्रबन्ध निदेशक एवं एडिटर इन चीफ सुरेश चौहान ने इस कृति को राष्ट्रीय अस्मिता का ग्रन्थ बताते हुए कहा कि यह केवल एक ग्रन्थ नहीं बल्कि राष्ट्रीय धरोहर बन गया है। इससे भारत की आने वाली पीढ़ी को हमारे देश की महान विभूतियों को काव्यात्मक रूप से पढने को मिलेगा।
कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे अंतरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त साहित्यकार पद्मश्री डॉ श्याम सिंह ‘शशि’ ने कहा हिंदी साहित्य के इतिहास हमारे राष्ट्र के महापुरुषों को कविताओं के माध्यम से व्यक्त कर एक श्लाघनीय कार्य किया गया है। मैं इसके सम्पादक एवं संकलनकर्ता को ह्र्दय से बधाई देता हूँ।
विशिष्ट अतिथि और नागरी लिपि परिषद के महामंत्री डॉ हरी सिंह पाल जी ने इस ग्रंथ को विशाल ग्रंथ बताया तथा
विशिष्ट अतिथि और हिंदी अकादमी दिल्ली के सचिव डॉ जीतराम भट्ट ने इसे कालजयी ग्रन्थ की संज्ञा देते हुए कहा कि इसे भारत की प्रत्येक लाइब्रेरी में होना चाहिए।
विशिष्ट अतिथि डॉ इंदिरा मोहन, अध्यक्ष दिल्ली हिंदी साहित्य सम्मेलन ने इसे अभूतपूर्व ग्रन्थ बताया।
सभी अतिथियों के कर कमलों द्वारा इस ग्रन्थ का भव्य लोकार्पण किया गया।
संस्था के अध्यक्ष डॉ राजीव कुमार पाण्डेय जी ने इसे गोल्डन बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में नाम दर्ज कराया था।
इस कलजयी काव्य ग्रंथ में डॉ भावना शुक्ल की रचना डॉक्टर सर्वपल्ली राधाकृष्णन पर आधारित है।

संस्था की कोषाध्यक्ष अनुपमा पाण्डेय ने धन्यवाद ज्ञापित किया।
डॉ भावना शुक्ल

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here