हमारे बच्चों को धर्म और संस्कृति से जोड़े रखें – शास्त्री जी

हमारे बच्चों को धर्म और संस्कृति से जोड़े रखें – शास्त्री जी

विधायक ने कथा में पहुंचकर शास्त्री जी का किया स्वागत

खंडवा।
भागवत कथा जीवन जीने की कला सिखाती है। जब भी हम भागवत कथा को सुनते हैं अलग-अलग प्रसंगों का हमें ज्ञान प्राप्त होता है। भगवान श्री कृष्ण का पूरा जीवन प्रेम से भरा रहा। अलग-अलग लीलाओं के माध्यम से उन्होंने जनजागृति का संदेश दिया। यह उदगार रोटरी धर्मशाला में चल रही भागवत कथा के पांचवे दिन भागवताचार्य कथा वाचक रूपकृष्ण शास्त्री ने व्यक्त किए। शास्त्री जी ने कहा कि आज के इस आधुनिक युग में काफी संभलने की आवश्यकता है। हम सभी धर्म से जुड़े रहें और हमारे बच्चों को भी धर्म और संस्कृति के संस्कारों से जोड़े रखे। समाजसेवी व प्रवक्ता सुनील जैन ने बताया कि यदुनाथ सिंह बैस द्वारा रोटरी क्लब हाल मे आयोजित भागवत कथा में कथा वाचक श्री रुप कृष्ण शास्त्री जी ने भगवान श्री कृष्ण की सुन्दर बाल लीलाओं का वर्णन किया। बाल लीलाओं के साथ ही गोवर्धन पूजा व छप्पन भोग का आयोजन भी किया गया। गुरूवार को आयोजित कथा में भाजपा जिला अध्यक्ष सेवादास पटेल जी वं विधायक देवेंद्र वर्मा जी ने व्यासपीठ का पूजन कर कथा वाचक पंडित जी का आशीर्वाद प्राप्त किया। इस दौरान उपस्थित दिनेश पालीवाल, जीवन डिंडोरे, राम गोपाल जी शर्मा, सुधांशु जैन, रक्षा प्रजापति, हर्षा ठाकुर दीदी, मंगेशकर तोमर, बप्पी नरवाले, सुनील जैन, निर्मल मंगवानी, कपील अग्रवाल, धीरज शर्मा, भरत पटेल आदि उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here