कुश्ती कोच दंगल गुरु कृपाशंकर बिश्नोई का भारतीय खेल प्राधिकरण में आने का रास्ता हुआ साफ

देश के सर्वश्रेष्ठ कुश्ती कोच दंगल गुरु कृपाशंकर बिश्नोई का भारतीय खेल प्राधिकरण में आने का रास्ता हुआ साफ, नए पहलवानों को करेंगे तैयार

नई दिल्ली ।
फिल्म ‘दंगल’ के लिए आमिर खान और अन्य कलाकारों को कुश्ती के गुर सिखाने वाले इंदौर के अर्जुन अवॉर्डी पहलवान कृपाशंकर बिश्नोई ने काफी अटकलों के बाद रेलवे विभाग से भारतीय खेल प्राधिकरण मे जाने का रास्ता साफ कर दिया है। इसके लिए साई की ओर से रेल विभाग को पत्र लिखा गया था। पश्चिम रेलवे जीएम मुंबई को लिखे पत्र में कृपाशंकर के संबंध में अनापत्ति प्रमाण पत्र (NOC), सतर्कता मंजूरी और सत्यनिष्ठा प्रमाण पत्र मांगने जेसी सभी कार्यवाही पहले ही पूरी कर ली गई है।

भारतीय खेल प्राधिकरण (SAI) में कुशल अनुभवी खेल प्रशिक्षकों की कमी को पूरा करने के लिए प्रतिनियुक्त पर साई खेल प्रशिक्षकों को तैनात कर रहा है। साई ने अन्य विभागों में खेल से जुड़े कुश्ती प्रशिक्षकों को चिन्हित किया है। चिन्हित प्रशिक्षकों के विभागों को पत्र लिखकर उन्हें डेपुटेशन पर भारतीय खेल प्राधिकरण (SAI) में भेजने का आग्रह किया था ।

इसके पीछे भारतीय खेल प्राधिकरण (SAI) का मकसद है की देश के विख्यात और अनुभवी कुश्ती खिलाड़ियों व प्रशिक्षको की सेवाएं ले सके, ताकि साई नेशनल सेंटर आफ एक्सीलेन्स (NCOE) के अलग-अलग केडरों में चयनित कुश्ती खिलाड़ियों को बेहतर प्रशिक्षण मिले सके। इसी दिशा मे अर्जुन अवार्डी कोच कृपाशंकर बिश्नोई को भी साईं में लेने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है । हालाकि कृपाशंकर ने पूर्व मे ही हुए साक्षात्कार में सोनीपत साई सेंटर के लिए अपना नाम भेजा था, लेकिन जनवरी 2022 को भारतीय खेल प्राधिकरण ने कृपाशंकर को मुंबई के कांदिवली स्थित साई सेंटर के लिए नियुक्ति पत्र सौंपा था, जिसमें कृपाशंकर ने कोई दिलचस्पी नहीं दिखाई | एक बार फिर भारतीय खेल प्राधिकरण ने कृपाशंकर को अपने पसंदीदा केंद्रों (सोनीपत या लखनऊ) में से किसी एक को चुनने के लिए कहा, जहां कृपाशंकर ने साई सोनीपार के लिए अपनी सहमति दी है | उम्मीद है कि बहुत जल्द भारतीय खेल प्राधिकरण, सोनीपत के उत्तर क्षेत्रीय केंद्र को फ्रीस्टाइल कुश्ती के लिए एक बेहतर कोच मिलेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here