बैंकों से उपभोक्ता परेशान – विनोद कुशवाहा,इटारसी

    बैंकों से उपभोक्ता परेशान

महोदय ,
         इटारसी के राष्ट्रीयकृत बैंकों तथा निजी बैंकों से इन दिनों न केवल उपभोक्ता त्रस्त हैं बल्कि समूचा शहर परेशान है । बार-बार माननीय कलेक्टर महोदय , अनुविभागीय दंडाधिकारी एवं मुख्य नगर पालिका अधिकारी की चेतावनी के बावजूद बैंकों के सामने गाड़ियों का जमावड़ा लगा रहता है । उल्लेखनीय है कि इस सम्बंध में स्थानीय तथा दैनिक समाचार पत्रों द्वारा समय-समय पर जिला प्रशासन व स्थानीय प्रशासन का ध्यान आकर्षित किया जाता रहा है । हितग्राहियों की परेशानी यहीं खत्म नहीं होती । कतिपय राष्ट्रीयकृत बैंकों की लापरवाही का ये आलम है कि उपभोक्ताओं के ए टी एम कार्ड की वैधता खत्म हो गई है लेकिन उन्हें नए ए टी एम कार्ड जारी नहीं किए जा रहे हैं । हितग्राही इन बैंकों के चक्कर लगा-लगा कर परेशान हैं । इन उपभोक्ताओं में महिलाएं भी शामिल हैं । जबकि त्यौहार सामने हैं । दूसरी ओर कुछ राष्ट्रीयकॄत बैंक बिना काम के निकम्मे बैठे हुए हवा खा रहे हैं । हितग्राही जब बैंक पहुंचते हैं तो उन्हें सॉफ्टवेयर अपटेड किये जाने का बहाना बनाकर टरका दिया जाता है । हास्यस्पद तो ये है कि इस लापरवाही के चलते इन बैंकों में जनवरी 22 से कामकाज ठप्प पड़ा हुआ है । यहां तक कि उपभोक्ताओं के मोबाईल पर ब्याज जमा होने तक के मैसेज नहीं आ रहे हैं । ऐसे में हितग्राही क्या करें । बाध्य होकर कतिपय जागरूक उपभोक्ता अब या तो क्षेत्रीय प्रबंधक को शिकायत कर रहे हैं अथवा बैंकिंग लोकपाल की शरण में जा रहे हैं । हालांकि इससे भी कुछ होना जाना नहीं है क्योंकि ज्यादातर प्रकरणों में हितग्राही को ही जिम्मेदार ठहरा दिया जाता है । अंततः  उपभोक्ता न्यायालय की शरण लेने को बाध्य हैं । 

            – विनोद कुशवाहा
एल आई जी / 85
 न्यास कॉलोनी
इटारसी .

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here