रोजगारोनमुखी शिक्षा एवम् कौशल विकास पर कार्यशाला का आयोजन

315

रोजगारोनमुखी शिक्षा एवम् कौशल विकास पर कार्यशाला का आयोजन

इटारसी।
शासकीय कन्‍या महाविद्यालय, इटारसी में दिनांक 29.09.2021 को राष्‍ट्रीय शिक्षा नीति 2020 के एक महत्‍वपूर्ण लक्ष्‍य, शिक्षा रोजगार एवम् स्‍व- रोजगार से जोड़ने, की प्राप्‍ति‍ हेतु एक कार्यशाला का आयोजन किया गया। नोडल अधिकारी (NEP) डॉ. रंधावा ने जानकारी दी कि स्‍थानीय शिक्षाविदो, उद्योगपतिओं, सामाजिक संस्‍थानों और विशेषज्ञों को इस कार्यशाला में आमंत्रित किया गया है ताकि इस महत्‍वपूर्ण विषय पर विचार- विमर्श कर कार्य योजना बनाई जाये जिससे महाविद्यालय में प्रवेशित छात्रायें फील्‍ड प्रोजेक्‍ट, इन्‍टर्नशिप, अप्रेंटिसशिप के माध्‍यम से कौशल विकास कर रोजगार प्राप्‍त कर सकें।
शिक्षा के क्षेत्र से डॉ. उप्‍पल, डॉ. पाडेय, श्री बी.के. पटेल, श्री शुक्‍ला, श्री दर्शन तिवारी उद्योग क्षेत्र से नटराज से श्री रितेश शर्मा, श्री विवेक मैथिल, हॉस्पिटैलिटी सेक्‍टर से श्री सत्‍यम अग्रवाल, जैविक खेती के विशेषज्ञ श्री हेमन्‍त दुबे तथा श्री संदीप मेहतो, सह संस्‍थापक, भारत कालिंग ने कार्यशाला में अपने विचार साझा करने हेतु आंमत्रित किया गया था। स्‍वागत उपरान्‍त अपने उद्बोधन में प्रभारी प्राचार्य डॉ. आर. एस. मेहरा ने कहा कि शिक्षा को रोजगार से जोड़ना आज की आवश्‍यकता है। नई शिक्षा नीति छात्राओं को अवसर दे रहीं है कि वे शिक्षा के साथ-साथ कौशल विकास कर रोजगार प्राप्‍त करने में सक्षम बनें। नोड़ल अधिकारी (NEP) डॉ. रंधावा ने कहा कि वर्तमान समय की आवश्‍यकता है कि छात्र नवाचार के माध्‍यम से बहुमुखी, प्रतिभा सम्‍पन्‍न, आत्‍म निर्भर नागरिक बनकर राष्‍ट्र के विकास में अपना योगदान दे। नई शिक्षा नीति फील्‍ड प्रोजेक्‍ट एवम् इन्‍टर्नशिपस के माध्‍यम से छात्राओं को रोजगार/ स्‍वरोजगार के लिए तैयार कर रहीं है।
सभी आंमत्रित विशेषज्ञों ने कार्यशाला में अपने विचार रखे। अपने- अपने क्षेत्र में रोजगार के अवसर तथा उसे प्राप्‍त करने हेतु छात्राओं को प्रशिक्षण करने की योजना के बारे में प्रभावी सुझाव रखे। डॉ. उप्‍पल द्वारा एक Road map बना कर Vocational Course और internship कार्यक्रम की शुरूआत करने का सुझाव दिया श्री सत्‍यम अग्रवाल द्वारा Hospitality Sector में छात्राओं को प्रशिक्षण देने का आश्‍वासन दिया।
श्री रितेश शर्मा ने भी अपने कार्य क्षेत्र में छात्राओं को प्रशिक्षण करने की बात कही।
महाविद्यालय परिवार आशा करता है कि प्रभावी सुझावों एवम् आपसी सहयोग से नई शिक्षा नीति के अन्‍तर्गत एक कार्य योजना जल्‍द बनार्इ जायेगी जिससे छात्राएँ लाभान्वित होगी। कार्यशाला में हिन्‍दी विभाग के प्रमुख डॉ. निवारिया ने सूत्रधार की भूमिका निभार्इ एवम् महाविद्यालय के केरियर गाइडेंस सेल के प्रभारी श्री सिंह ने कार्यशाला में उपस्थित सभी अतिथियो के प्रति आभार प्रेषित किया।
डॉ. आर.एस. मेहरा प्राचार्य

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here