पत्र संपादक के नाम : दुर्दशा के शिकार हैं ए टी एम -विनोद कुशवाहा, इटारसी

45

पत्र संपादक के नाम –

दुर्दशा के शिकार हैं ए टी एम

महोदय ,     
            इटारसी स्थित लगभग सभी ए टी एम इन दिनों दुर्दशा के शिकार हैं । हालांकि निजी बैंकों के ए टी एम की हालत फिर भी ठीक है । 
         राष्ट्रीयकृत बैंकों के ए टी एम या तो खराब पाए जाते हैं या फिर इस स्थिति में रहते हैं कि उपभोक्ता उनके अंदर जाने से भी कतराते हैं । 
         ज्यादातर ए टी एम में गंदगी का साम्राज्य है । ए सी बंद पड़े हैं । सबसे बड़ी बात तो ये है कि इन ए टी एम को आवारा मवेशियों ने अपना ठिकाना बना लिया है । अब ऐसे में उपभोक्ता ए टी एम से पैसे निकालने जाए तो जाए कैसे । हास्यास्पद तो ये है कि इन ए टी एम में कोई सुरक्षा कर्मी भी नहीं रहते ।
       आशा है उपरोक्त बैंकों के शाखा प्रबंधक इस ओर ध्यान देंगे ।

विनोद कुशवाहा
   न्यास कॉलोनी
इटारसी ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here