नागरिक पत्रकारिता : सी एम हेल्प लाइन : कलेक्टर क्या खाक समीक्षा करेंगे ? – विनोद कुशवाहा

सी एम हेल्प लाइन : कलेक्टर क्या खाक समीक्षा करेंगे ?

– विनोद कुशवाहा

मध्यप्रदेश की सी एम हेल्प लाइन को प्राप्त शिकायतों के समाधान में जिले को दूसरा स्थान प्राप्त हुआ है । इसमें इटारसी की स्थिति क्या है ये अभी तक ज्ञात नहीं हुआ है क्योंकि जमीनी हकीकत कुछ और है । जबकि जिला कलेक्टर धनंजय सिंह ने ‘ समय सीमा ‘ की बैठक में स्पष्ट निर्देश दिए हैं कि कोई भी प्रकरण किसी भी स्तर पर अनावश्यक लंबित न रहें । विशेषकर हितग्राही मूलक योजनाओं से सम्बंधित प्रकरण । उन्होंने इस बात पर भी जोर दिया कि बारिश और मिलावट को दृष्टिगत रखते हुए आवश्यक कार्यवाही की जाए । इटारसी में इसके ठीक विपरीत स्थिति है ।

अब 13 सितंबर , दिन सोमवार को स्वयं मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ” सी एम हेल्प लाइन ” की समीक्षा करेंगे । ‘ युवा प्रवर्तक ‘ के माध्यम से मैं माननीय मुख्यमंत्री से ये अपील करता हूं कि वे इटारसी की नगरपालिका परिषद की कार्यप्रणाली के सम्बंध में सी एम हेल्प लाइन को की गई शिकायतों पर कमिश्नर और कलेक्टर से वन टू वन जरूर चर्चा करें क्योंकि सी एम हेल्प लाइन में दर्ज शिकायतों के संदर्भ में नगरपालिका परिषद के अधिकारी अब तक कलेक्टर महोदय को गुमराह करते रहे हैं ।

मैं स्वयं पिछले तीन वर्षों से इटारसी की न्यास कॉलोनी में एल आई जी 77 से 104 के बीच की नाली के पुर्न निर्माण की मांग करता आ रहा हूं परन्तु किसी भी सी एम ओ अथवा उप यंत्री ने सी एम हेल्प लाईन को गई मेरी शिकायत को गम्भीरता से नहीं लिया बल्कि कलेक्टर को इस मामले में लगातार गुमराह किया जाता रहा । परिणाम स्वरूप हर साल अत्याधिक वर्षा होने की स्थिति में उपरोक्त नाली के चॉक हो जाने के कारण मेरे निवास के सामने की न्यास की नाली का पानी ओव्हर फ्लो होकर घरों में भरता रहा है । ऐसी आपदा के समय भी अधिकारी तथा क्षेत्रीय पार्षद फोन का स्विच ऑफ कर अपने कार्यालय या घरों में बैठकर वर्षा का आनंद लेते हैं ।

मैंने 17 जून , 19 से लेकर 23 दिसम्बर , 19 , 4 जनवरी , 20 ( 2 कॉल ) , 5 जनवरी , 20 , 5 फरवरी , 20 , 22 फरवरी , 20 , 20 अगस्त , 20 ( 2 कॉल ) , 11 मार्च , 21 ( 2 कॉल ) , 17 जून , 21 ( 4 कॉल ) , 12 अगस्त , 21 (18 कॉल ) तक विभिन्न समस्याओं के संदर्भ में सी एम हेल्प लाइन को शिकायत की जिनमें से मात्र एक समस्या का निराकरण किया गया वह समस्या भी होशंगाबाद जिले से सम्बंधित नहीं थी वरन उसका संबंध बैतूल जिले से था । मैं उपरोक्त समस्या के समाधान के संदर्भ में बैतूल कलेक्टर को धन्यवाद् ज्ञापित करना चाहूंगा जिन्होंने व्यक्तिगत रुचि लेकर मेरी समस्या का निराकरण किया ।

साथ ही मेरा नर्मदापुरम के आयुक्त तथा होशंगाबाद जिले के कलेक्टर महोदय से अनुरोध है कि इसके पहले कि 13 सितंबर को मध्यप्रदेश के यशस्वी मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान होशंगाबाद जिले की सी एम हेल्प लाइन में दर्ज शिकायतों की समीक्षा करें , कमिश्नर – कलेक्टर द्वय स्वयं इटारसी अनुभाग के संदर्भ में सी एम हेल्प लाइन में दर्ज शिकायतों की अपने स्तर पर समीक्षा कर प्राथमिकता के आधार पर समाधान करायें । अन्यथा इटारसी अनुभाग के कारण समूचे नर्मदापुरम संभाग एवं होशंगाबाद जिले की छवि धूमिल होगी क्योंकि मैं इस संबंध में व्यक्तिगत रूप से माननीय मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का ध्यान आकर्षित कर चुका हूं ।

( सम्पादक की सहमति अनिवार्य नही)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here