ट्रस्ट में जमा दान की गई राशि को सुरक्षित बचाए रखने हेतु युवा कांग्रेस ने लगाई मंदिरों मे हनुमान जी को अर्जी

18

ट्रस्ट में जमा दान की गई राशि को सुरक्षित बचाए रखने हेतु युवा कांग्रेस ने लगाई मंदिरों मे हनुमान जी को अर्जी

देश-विदेश के लोंगों ने बड़ी ही आस्था और श्रृद्वा भाव से दिया है दानस्वरूप चंदा, इसको बचाए रखना हम सबका कर्तव्य

इटारसी।
– यूथ कांग्रेस विधानसभा उपाध्यक्ष आशीष पाण्डेय ने दिनांक 22 जून, मंगलवार को हनुमान मंदिर में ‘‘रामभक्त हनुमान’’ को अर्जी लगाई और वहीं मंदिर परिसर में बैठकर हनुमान चालीसा का पाठ भी किया, और प्रथना की इन भृष्टाचारियों को सदबुद्धि प्रदान करे।
विधानसभा उपाध्यक्ष युवक कांग्रेस अशीष पाण्डेय ने कहा कि अभी हाल ही में अयोध्या के राममंदिर ट्रस्ट में जमींन घोटाले के तहत करोड़ों रूपयों का घोटाला सामने आया है, शंका हो रही है कि कहीं यह लोग ट्रस्ट में राममंदिर निर्माण हेतु देश-विदेश के लोगेां द्वारा दी गई दानस्वरूप राशि एवं वस्तु में हेर-फेर कर उसमें भृष्टाचार न कर दें, युवा कांग्रेस ओर देश के सभी राम भक्त इससे व्यथित है, यह आस्था का विषय है, क्योंकि इससे लोगों की आस्था और विश्वास पर चोट पहुँचती है।
राममंदिर निर्माण हेतु देश भर के राम भक्तों ने बड़े ही श्रृदाभाव से यह दान दिया है, उसका अनुचित दुरूपयोग न होने पाए और उसे सुरक्षित रखने हेतु हनुमान मंदिर में मंगलवार को इसके लिए हनुमान मंदिर में ‘‘पहले हनुमान चालीसा’’ का पाठ किया बाद में मंदिर में स्थित रामभक्त हनुमान जी की मूर्ति को प्रतीकात्मक रूप से अर्जी लगाकर उनसे प्रार्थना किया कि अध्यर्मियों और विकृत मानसिकता के लोगों से दान की राशि और अन्य वस्तुओं को इन पापियों से बचाएं जो की इन्होंने भगवान श्री राम को भी नही छोड़ा, इसका जबाब देश के प्रधान मंत्री को देना चाइये क्योंकि सम्पूर्ण देश में बीजेपी के कार्य कर्ताओं और स्वयं सेवक संघ के लोगों ने घर – घर जा कर श्रीराम के नाम पर मंदिर निर्माण हेतु चंदा लिया है। तो इस घोटाले की जबाब देहि भी इन्ही की है। देश की जनता जबाब चाहती है इन भृष्टाचारियों से।
इस अवसर पर जिला महासचिव युवक कांग्रेस सागर सेन, जिला महासचिव युवक कांग्रेस विजय साजवानी, निहाल अहिरवार, निर्भय अहिरवार, नईम परवेज, गौतम अहिरवार, मनोज मालवीय, आदि कार्यकर्ता उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here