काव्य भाषा : हिन्दी नव् वर्ष नव संवत्सर विक्रम संवत 2078 -एस के कपूर “श्री हंस” बरेली

हिन्दी नव् वर्ष नव संवत्सर
विक्रम संवत 2078

1
फसल चक्र ऋतु परिवर्तन का,
संकेत है हिन्दी नव वर्ष।
नव रात्री के जयकारों से होता,
व्याप्त सब में भक्ति हर्ष।।
सूर्य चंद्रमा दिशा परिवर्तन और
जुड़ी कृषकों की ख़ुशहाली।
विक्रमादित्य, भगवान झूले लाल,
से भी जुड़ा ऐतिहासिक स्पर्श।।
2
हिन्दी नव वर्ष नव संवत्सर तो,
नये मौसम का आगाज है।
देवी मां और आर्यसमाज कृपा व
मिला संस्कारों का साज़ है।।
क्या जनवरी अंग्रेजी वर्ष में है,
कोई भी ऐसा परिवर्तन।
नव संवत्सर तो ५७ वर्षों की,
लिए अधिक आवाज़ है।।
3
जनवरी नव वर्ष के साथ मनाये,
अवश्य हिंदी नव वर्ष भी।
बधाई दें सबको नव संवत्सर,
की अवश्य और सहर्ष भी।।
अपने पुरातन मूल्यों का हो ,
अधिक से अधिक प्रसार।
कभी भूलें नहीं सृष्टि निर्माण दिन,
का महत्व और दर्श भी।।

एस के कपूर “श्री हंस”
बरेली
मोब 9897071046
8218685464

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here