छत्तीसगढ़ी फिल्म भूलन द मेज को मिला राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार :अणिमा पगारे ने निभाई है महत्वपूर्ण भूमिका

छत्तीसगढ़ी फिल्म भूलन द मेज को मिला राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार :अणिमा पगारे ने निभाई है महत्वपूर्ण भूमिका

इटारसी0।
स्वतंत्रता सेनानी द्वय स्वर्गीय श्री सुकुमार पगारे एवं स्वर्गीया श्रीमती सरस पगारे की पोती तथा वरिष्ठ पत्रकार श्री अखिल पगारे एवं सामाजिक कार्यकर्ता श्रीमती मानसी पगारे की होनहार पुत्री एवम प्रमोद पगारे की भतीजी अणिमा पगारे ने छत्तीसगढ़ी फिल्म भूलन द मेज में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। 67 वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार समारोह में इस फिल्म को राष्ट्रीय पुरस्कार दिया गया है। विगत कुछ वर्षों से अणिमा मुंबई में टेलीविज़न धारावाहिकों (तेरे मेरे सपने,अजीब दासताँ है ये—सावधान इंडिया,क्राईम पेट्रोल इत्यादि में अभिनय कर चुकी है।उनके द्वारा अभिनीत फिल्म “भूलन द
मेज मेंअणिमा ने इसमे हीरो (पीपली लाईव फेम लच्छा )की पत्नी प्रेमिन का मुख्य किरदार निभाया है ।ज्ञातव्य है की जय प्रकाश चौकसे (पर्दे के पीछे –दैनिक भास्कर)अपने लेख में “भूलन द मेज़ “को ऑस्कर में भेजने की पैरवी कर चुके हैं। फिल्म के निर्माता मनोज वर्मा पुरुस्कार मिलने के उपरांत इसकी शीघ्र व्यावसायिक रिलीज़ करवाने वाले हैं। देश-विदेश के फिल्म समारोहों में फिल्म को अनेक पुरुस्कार एवं प्रशंसा मिल चुकी है।