विश्व मैत्री मंच ,दिल्ली इकाई ने ‘होली के रंग,सखियों के संग’ आडियो काव्य गोष्ठी का आयोजन किया

विश्व मैत्री मंच ,दिल्ली इकाई ने ‘होली के रंग,सखियों के संग’ आडियो काव्य गोष्ठी का आयोजन किया

विश्व मैत्री मंच ,दिल्ली इकाई ने ‘होली के रंग,सखियों के संग’ आडियो काव्य गोष्ठी का आयोजन 19 मार्च 2021 को शाम 3.30 बजे आनलाइन किया।
इस आयोजन का संयोजन आदरणीया अर्चना पाण्डया जी और आदरणीया सुषमा भण्डारी जी के सार्थक प्रयास से हुआ।आयोजन में अन्तर्राष्ट्रीय ख्याति प्राप्त प्रतिष्ठित साहित्यकार आदरणीया संतोष श्रीवास्तव जी की गरिमामयी उपस्थिति अध्यक्षा के रूप में रही।उपाध्यक्षा हरियाणा साहित्य की पूर्व निदेशिका डाॅ.मुक्ता ,मुख्य अतिथि आदरणीया रूपेन्द्र राज जी और विशिष्ट अतिथि आदरणीया पुष्पा शर्मा कुसुम जी के सानिध्य और गरिमामयी उपस्थिति से काव्य गोष्ठी सफलता पूर्वक संपन्न हुई।आयोजन की अध्यक्षा आदरणीया संतोष श्रीवास्तव जी ने दीप प्रज्वलन कर गोष्ठी का आगाज़ किया और प्रतिष्ठित कवयित्री वंदना रानी दयाल जी की सुमधुर सरस्वती वंदना ने मंच पर सबको माँ शारदे का आशीर्वाद दिलाया और खूब वाह वाही प्राप्त की। शकुंतला मित्तल के मोहक संचालन में 20साहित्यिक कलमकारों ने होली के विविध रंगों से मंच को रससिक्त कर दिया।

डाॅ दुर्गा सिन्हा जी,वीना अग्रवाल जी,राधा गोयल जी,नीलम दुग्गल जी,सरोज गुप्ता जी ,सुरेखा जैन जी,डाॅ भावना शुक्ला जी ,शुभ्रा जी,चंचल पाहुजा जी, डाॅ. बीना राघव जी, वंदना रानी दयाल जी ,कल्पना जी,अंजू जैमिनी जी,पूनम गुप्ता जी,शारदा मितल जी,मुक्ता मिश्रा जी,शोभा नारायण जी,पुष्पा सिन्हा जी,शकुंतला मितल जी और अर्चना पांड्या जी ने होली की मस्ती,रंग ,ठिठोली से सबको होली के रंगों में सराबोर कर दिया।

उपाध्यक्षा डाॅ.मुक्ता ने संदेशपरक कविता के साथ अति सुंदर सार्थक वक्तव्य दिया और होली के अलग अलग अर्थ स्पष्ट किए।मुख्य अतिथि आदरणीया रूपेन्द्र राज जी ने अपनी मोहक सजल की लाजवाब प्रस्तुति से सबको मंत्रमुग्ध कर दिया और सभी प्रतिभागियों को सुंदर प्रस्तुति के लिए और शकुंतला मित्तल को सफल संचालन के लिए बधाई दी।विशिष्ट अतिथि आदरणीया पुष्पा शर्मा कुसुम जी ने अपनी प्रस्तुति के साथ होली का संदेश देते हुए सबको बधाई एवं शुभकामनाएँ दीं। आयोजन की अध्यक्षा आदरणीया संतोष श्रीवास्तव जी ने अति व्यस्तता के बावजूद आयोजक मंडल,संचालिका और सभी प्रतिभागियों को बधाई एवं शुभकामनाएँ देती उनका उत्साह वर्धन किया।डाॅ.दुर्गा सिन्हा उदार जी ने सभी अतिथियों,आयोजकों और प्रतिभागियों का आभार व्यक्त किया ।काव्य गोष्ठी हर्षोल्लासमय वातावरण में संपन्न हुई।

2 COMMENTS

  1. हार्दिक आभार इतनी सुंदर सारगर्भित रिपोर्ट के लिए

    • बहुत सुंदर प्रयास। कोरोना अवधि में यह बहुत अच्छा उपाय निकाल लिया है। बधाई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here