नर्मदापुरम संभागीय अधिकारियों को अभिभावक कल्याण संघ ने भेजा पत्र

नर्मदापुरम संभागीय अधिकारियों को अभिभावक कल्याण संघ ने भेजा पत्र
अशासकीय विद्यालयों में पढ़ने वाले बच्चों को ऑनलाइन शिक्षा से एवं परीक्षा से वंचित किए जाने एवं ट्यूशन फीस के नाम पर ज्यादा फीस वसूली किए जाने को लेकर जिलाध्यक्ष दशरथ चौधरी ने सौंपा पत्र

इटारसी।
अभिभावक कल्याण संघ मध्य प्रदेश विनम्र आग्रह व निवेदन करता है। कि होशंगाबाद संभाग में समस्त निजी स्कूल संचालकों द्वारा अभिभावकों से स्कूल शिक्षा ट्यूशन फीस के नाम से ज्यादा एवं जबरन फीस के लिए दबाव बनाया जा रहा है। फीस नहीं देने एवं आदि फीस जमा करने के बाद भी ओर फीस जमा करने का बार – बार जबरन बच्चों एवं अभिभावकों पर शारीरिक मानसिक रूप से दबाव बनाऐ जाने एवं फीस नहीं देने के कारण बच्चों को ऑनलाइन शिक्षा से एवं परीक्षा से वंचित किया जा रहा है। जो कि ( शिक्षा का अधिकार अधिनियम का उल्लंघन है। ) एवं ( बाल अपराध की धारा 75 का भी घोर उल्लंघन है। )

अभिभावक कल्याण संघ के जिला अध्यक्ष दशरथ चौधरी ने मांग की है कि मध्यप्रदेश शासन स्कूल शिक्षा विभाग मंत्रालय वल्लभ भवन भोपाल का संदर्भित पत्र मैं अंकित बिंदु क्रमांक 1,2,3,4,5, को संपूर्ण रुप से नर्मदापुरम संभाग होशंगाबाद में लागू कराने की कृपा करें। जिससे की किसी भी बच्चे का भविष्य खराब नहीं हो। ना ही किसी भी प्रकार से बच्चों को ऑनलाइन शिक्षा एवं ऑनलाइन परीक्षा से कोई भी अशासकीय स्कूल बच्चों को किसी भी प्रकार की शिक्षा से बच्चों को वंचित करने का दुस्साहस नहीं कर सके। ट्यूशन फीस ना देने के अभाव में किसी भी बच्चे की अंकसूची, एवं टीसी, स्कूल द्वारा नहीं रोकी जाए जिससे कि किसी भी बच्चों का साल बर्बाद ना हो।
महोदय जी से निवेदन है कि नर्मदापुरम संभाग होशंगाबाद में तत्काल प्रभाव शील आदेश जारी करने की आपसे अभिभावक कल्याण संघ मध्य प्रदेश मांग करता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here