संत शिरोमणि रविदास ने दिया मन और व्यवहार पवित्र रखने का संदेश

75

संत शिरोमणि रविदास ने दिया मन और व्यवहार पवित्र रखने का संदेश

काशी।
काशी नरेश राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय ज्ञानपुर भदोही में राष्ट्रीय सेवा योजना की चारों इकाइयों द्वारा आयोजित सात दिवसीय विशेष शिविर में आज प्रातः प्रार्थना व राष्ट्रीय सेवा योजना के लक्ष्य गीत उठे समाज के लिए उठे उठे जगें स्वरराष्ट्र के लिए जगें जगें से आज के दिवस का शुभारंभ हुआ l तत्पश्चात छात्रों ने क्रिकेट एवं छात्राओं ने बैडमिंटन और खो-खो खेला l क्रीड़ा के पश्चात छात्र छात्राओं ने आज की संगोष्ठी के विषय नारी शक्ति, स्वावलंबन, स्वाभिमान विषय पर रंगोली बनाई l
भोजन के उपरांत हुई बौद्धिक संगोष्ठी के मुख्य वक्ता डॉ जय सिंह यादव रहेl उन्होंने कहा समाज मे नारियों की हिफाजत के लिए बहुत सारे कानून बने हुए हैं l पर इतना पर्याप्त नहीं है, नारियों को स्वाभिमान पूर्वक जीवन देने के लिए उनके प्रति संवेदनशीलता का भाव जगाना होगा और उनका सम्मान करना होगाl आज के विशिष्ट अतिथि के रूप में उपस्थित श्री एमआई खान ने बताया की सामूहिकता में ही शक्ति निहित है, इसलिए नारी समाज को एकजुट होना होगा और नारियों को यह ध्यान रखना होगा कि कोई नारी नारी पर अत्याचार ना करेंl संगोष्ठी की अध्यक्षता कर रहे डॉ घनश्याम मिश्र ने कहा स्त्री और पुरुष दोनों एक दूसरे के पूरक हैं ना कि विरोधी इसलिए दोनों को एक दूसरे का सम्मान करना चाहिए डॉ विनय मिश्र ने भी नारी सशक्तिकरण विषय पर अपने विचार रखें संगोष्ठी का संचालन डॉ मोनिका ने किया संगोष्ठी में संत रविदास जयंती पर डॉ मोनिका ने विचार रखते हुए कहा कि मन और व्यवहार पवित्र रखने का संदेश संत शिरोमणि रविदास ने दिया है जिसको जीवन में अपनाना चाहिए डॉ कामिनी वर्मा ने बताया कि कर्तव्य निष्ठा की पराकाष्ठा संत रविदास के कृतित्व में दिखाई देती है और इस कर्तव्य की ही महानता है जो गंगा उनकी कठौती में आ विराजती है lडॉ अवधेश सिंह यादव ने भी बच्चों को संस्कार युक्त शिक्षा देने की बात कहीl छात्र छात्राओं मे निक्की, आँचल, शिवम् ,धैर्य राज सेठ निशांत ने अपने विचार रखे ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here