श्रीमद् भागवत कथा जहां पितरों को तारती है,वही शिव महापुराण आहूतों को तारती है-प. दीक्षित

34

श्रीमद् भागवत कथा जहां पितरों को तारती है,वही शिव महापुराण आहूतों को तारती है-प. दीक्षित

प्रथम दिवस निकली भव्य कलश यात्रा

खंडवा।
श्रीमद् भागवत कथा पितरों को तारती है किंतु शिव महापुराण कथा आहूतों को तारती है। क्योंकि कथा के यजमान भोलेनाथ भगवान स्वयं होतें हैं। भगवान शिव बहुत ही भोले हैं अपनी कृपा भक्तों पर तुरंत बरसाते हैं। आज मनुष्य नारायण को अलग और शिव जी को अलग मानने लगा है। उक्त दिव्य वाणी वर्षा हाटकेश्वर मंदिर के समीप स्थित राठौर धर्मशाला में नारी शक्ति ग्रुप महिला मंडल के तत्वावधान में साप्ताहिक शिव महापुराण कथा के संगीतमय आयोजन के प्रथम दिवस ग्राम सिर्रा के प्रखर कथावाचक पं. प्रबल दीक्षित द्वारा उपस्थित श्रद्धालुओं पर की गई। यह जानकारी देते हुए निर्मल मंगवानी ने बताया कि पं दीक्षित ने कथा में उपस्थितों से विशेष आग्रह करते हुए कहा कि कभी भी अपने घरों में यह गलती ना करें की शिव जी को स्नान कराया हुआ जल तुलसी में डालें। संगीतमय कथा के दौरान गीतों भजनों की प्रस्तुति के मध्य गणागौर एवं चंचुला देवी की भी कथा का सुंदर चित्रण किया गया। यह आयोजन राठौर धर्मशाला ट्रस्ट के सहयोग एवं नारी शक्ति ग्रुप महिला मंडल के तत्वावधान में 4 मार्च रविवार तक प्रतिदिन दोपहर 1 बजे से शाम 4 बजे तक होगा। समापन अवसर पर 4 मार्च को महा प्रसादी का भी आयोजन होगा। नारी शक्ति ग्रुप महिला मंडल द्वारा धर्म प्रेमी जनता से अधिक अधिक संख्या में पधारनें की अपील की गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here