वैश्य महासम्मेलन की जिला बैठक में अनेक मुद्दों पर चर्चा : मानवसेवा के लिए पूरी ऊर्जा से गतिमान करने का संकल्प

39

वैश्य महासम्मेलन की जिला बैठक में अनेक मुद्दों पर चर्चा :
मानवसेवा के लिए पूरी ऊर्जा से गतिमान करने का संकल्प

इटारसी।
वैश्य महासम्मेलन की आज रविवार को यहां फूडलैंड कैम्पस में हुई बैठक में संगठन को एकजुट रखने, मानवसेवा के साथ राजनीतिक क्षेत्र में पूरा सम्मान और महत्व दिलाने का संकल्प लिया गया। संगठन की बैठक में होशंगाबाद जिले की सभी तहसीलों के सदस्य और पदाधिकारी बड़ी संख्या में मौजूद थे।
वैश्य महासम्मेलन मध्यप्रदेश की होशंगाबाद जिला इकाई की जिला बैठक में स्वागत भाषण जिलाध्यक्ष संजय अग्रवाल शिल्पी ने दिया। संचालन प्रथम चरण का चार्टर जिलाध्यक्ष चंद्रकांत अग्रवाल ने व बैठक का प्रदेश महामंत्री भगवानदास अग्रवाल ने किया। बैठक में प्रदेश उपाध्यक्ष जगदीश मित्तल भोपाल के मुख्य अतिथि थे। प्रदेश महामंत्री भगवानदास अग्रवाल पिपरिया, प्रदेश मंत्री अजीत सेठी व जिला कांग्रेस अध्यक्ष सत्येंद्र फ़ौजदार के विशेष अतिथि रहे। करीब दो घंटे तक चली इस बैठक में प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य दीपक अग्रवाल, जिला प्रभारी अमित बिसानी, जिला मीडिया प्रभारी हरीश अग्रवाल, महिला इकाई की संभागीय अध्यक्ष नीरजा फौजदार, पूर्व जिलाध्यक्ष महेश गोयल, जिलाध्यक्ष ऊषा गुप्ता, जिला प्रभारी नीरू राठी, भोपाल संभागीय अध्यक्ष शीलचन्द्र जैन, इटारसी अध्यक्ष प्रह्लाद बंग, भी विशेष रूप से शरीक हुए। बैठक में पिपरिया, सोहागपुर, बाबई, बनखेड़ी, होशंगाबाद, सेमरी, शोभापुर, बानापुरा, शिवपुर, बाबडिय़ा भाऊ, डोलरिया, केसला व इटारसी से बड़ी संख्या में तहसील अध्यक्ष्, प्रभारी, तहसील व जिला स्तर के अन्य पदाधिकारी मौजूद रहे। प्रारंभ में अतिथियों का स्वागत गुलाबचंद अग्रवाल, अशोक सांवरिया, वर्षा समैया, आशा खंडेलवाल, राजश्री राठी, डॉ. आरके जैन, रामबाबू अग्रवाल, अनिल अग्रवाल, सुरेश अग्रवाल, डॉ राकेश अग्रवाल, जगदीश माहेश्वरी, सचिन अग्रवाल, रिंकू जैन, श्रीधर अग्रवाल, मंगेश, सुरेश गुप्ता, गोपाल आदि ने किया। इस दौरान संगठन के सशक्तिकरण व गतिविधियों पर विस्तार से चर्चा हुई। शाम 5 बजे से पत्रकार वार्ता में प्रमुख रूप से जगदीश मित्तल व भगवानदास अग्रवाल ने कहा कि संगठन को जीवन के हर क्षेत्र में सम्पूर्ण एकता, जीवटता व मानवसेवा के लिए अपनी पूरी ऊर्जा से गतिमान करने का संकल्प आज लिया है ताकि वैश्य समाज को समाज सेवा के साथ राजनीति के क्षेत्र में भी महत्व व सम्मान बिना मांगे मिल सके।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here