साहित्यिक अभिरुचि वाली घरेलू व कामकाजी महिलाओं को मुख्य धारा में जोड़ा जाएगा

19

साहित्यिक अभिरुचि वाली घरेलू व कामकाजी महिलाओं को मुख्य धारा में जोड़ा जाएगा

महिला काव्य मंच की प्रथम बैठक में संस्था की साहित्यिक गतिविधियों पर हुई चर्चा

सागर। अखिल भारतीय महिला काव्य मंच की सागर में स्थापित नवगठित इकाई की प्रथम बैठक डॉ.अंजना चतुर्वेदी तिवारी की अध्यक्षता में एकता कालोनी स्थित कार्यालय में रविवार को आयोजित की गई।सभी सदस्यों द्वारा संस्था की भावी कार्य योजना पर चर्चा उपरांत निर्णय लिया गया कि ऐसी घरेलू,कामकाजी महिलाएं और नई प्रतिभाओं को जो साहित्य के प्रति अभिरुचि होने के वाबजूद सामाजिक और पारिवारिक कारणों से समक्ष आने में संकोच करती हैं,उन्हें प्रेरित कर मुख्य धारा में शामिल करने के लिए प्रोत्साहित किया जाए।संस्था की बैठकें सदस्यों के आवास पर मासिक रूप से आयोजित की जावें,महिला रचनाकारों द्वारा लिखित साहित्यिक पुस्तकों का विमोचन तथा विभिन्न क्षेत्रों में महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाने वाली देश की प्रसिद्ध महिलाओं पर केंद्रित बड़े कार्यक्रम यथा समय आयोजित किए जावें।बसंतोत्सव के मौके पर चौदह फरवरी को छह युवा महिला रचनाकारों को सचिव डॉ सुजाता मिश्र के विश्वविद्यालय कैम्पस स्थित निवास पर समारोहपूर्वक सम्मानित करने का निर्णय भी लिया गया।महिला काव्य मंच की सचिव डॉ.सुजाता मिश्र ने संचालन किया व सह सचिव कु.वंदना तिवारी ने आभार माना।बैठक में विशेष आमंत्रित श्यामलम अध्यक्ष उमा कान्त मिश्र, पाठक मंच सागर के केंद्र संयोजक आर के तिवारी और ई एम आर सी के प्रोड्यूसर माधव चंद्रा के अलावा श्रीमती सीमा रमेश दत्त दुबे, जयंती सिंह लोधी,सुरेखा छत्रसाल,प्रियंका पाठक तथा संरक्षक डॉ.चंचला दवे की ऑन लाइन उपस्थिति उल्लेखनीय रही।

डाक्टर चंचला दवे
सागर म प्र

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here