उपचुनाव में शिवराज का जादू या कमलनाथ का करिश्मा- नरेंद्र तिवारी’एडवोकेट’,सेंधवा

उपचुनाव में शिवराज का जादू या कमलनाथ का करिश्मा

मध्यप्रदेश में उपचुनाव का शोर सुनाई देने लगा है,प्रमुख राजनैतिक दलों के नेताओं द्वारा रैलियां,रोड़ शो,सभाएं लेना प्रारम्भ कर दिया है,मुख्य मुकाबला भाजपा और कांग्रेस के मध्य है, बहुजन समाज पार्टी एक तीसरा दल है जो कुछ सीटों पर भाजपा-कांग्रेस को नुकसान पहुचा सकता है।किसे कितना नुकसान होगा इसका आकलन परिणामो के बाद ही किया जा सकता है।फिलहाल प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज चौहान और पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के द्वारा चुनावी रैलियां,सभाएं कार्यक्रम तेज कर दिए है।प्रदेश की जनता की नजर दोनों प्रमुख दलों पर है,शिवराज ओर कमलनाथ के भाषणों पर जनसामान्य कान गड़ाए हुए है,प्रदेश के लिए निर्णायक उपचुनाव में 15 साल बनाम15 महीने के आकलन की बात हो रही है,शिवराज ओर कमलनाथ के व्यक्तित्व को तौला जा रहा है,इस चुनाव में देखने वाली बात यह रहेगी कि शिवराज का जादू मतादाताओ पर असर दिखाता है या कमलनाथ के करिश्मे से जनता प्रभावित होती है।
फिलहाल चुनावी बिगुल बज चुका है,दोनों ही प्रमुख राजनैतिक दलों के कार्यकर्ताओ ओर नेताओं को कमर कसने के निर्देश पार्टियों द्वारा दिये जा रहे है,चुनाव आयोग किसी भी दिन तारीखों का एलान कर देंगा, कांग्रेस ने अपनी 15 विधानसभा सीटों के लिए अधिकृत उम्मीदवारों की घोषणा कर दी है,जबकि भाजपा के ने अधिकृत घोषणा तो नही की किन्तु यह माना जा रहा है,कि कांग्रेस से इस्तीफा देकर भाजपा में गए विधायको की उम्मीदवारी ही तय मानी जाए,जिसमे परिवर्तन की संभावना कम ही है।
यह उपचुनाव मुख्यमंत्री शिवराजसिंह ओर पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के आगामी राजनैतिक भविष्य की दिशा-दशा तय करने वाला भी साबित होगा,उपचुनाव इन दोनों चेहरों के इर्दगिर्द ही चक्कर लगा रहे है,तीसरा प्रमुख चेहरा नए नवेले भाजपा नेता और राज्यसभा सदस्य ज्योतिरादित्य सिंधिया का है, जिनकी रुची केंद्र सरकार में अधिक दिखाई दे रही है,किन्तु प्रतिष्ठा सिंधिया की भी दावं पर लगी दिखाई देती है जिन्होंने दोनों दलों को अंदर तक हिलाकर रख दिया मध्यप्रदेश की कांग्रेस सरकार को अल्पमत में लाकर भाजपा को सत्ता पर काबिज करवा दिया, कांग्रेस उन्हें विलेन के रूप में प्रचारित कर रही है तो भाजपा भी पूरे मन से स्वीकार नही कर पा रही है सिंधिया के लिए इस चुनाव के बहुत मायने है।
उपचुनाव में कांग्रेस की ओर से सबसे प्रभावी चेहरा कमलनाथ का है, हाल में ग्वालियर में कमलनाथ के रोड शो ओर रैली ने उनके प्रभाव को ओर अधिक बढ़ा दिया है,ग्वालियर की सड़कों पर उमड़ा जनसैलाब कमलनाथ के प्रति अपना समर्थन प्रदर्शित कर रहा था। यह समर्थन उनके लम्बे राजनैतिक अनुभव को तो मिला ही है, साथ ही प्रदेश के 15 माह के मुख्यमंत्री के रूप में किये कार्यो को भी मिला है,जिसने अपने कार्यकाल में प्रदेश को बदलने की इबारत लिखना आरम्भ कर दी थी,किसानों की कर्जे माफी,बिजली बिल की राशी में कमी,उधोगो को बढ़ावा एवं नए मध्यप्रदेश का सपना दिखाने की जो रूपरेखा प्रस्तुत की थी,जनता उसे गम्भीरता से देख रही थी,ओर सबसे बड़ी बात भूमाफिया ओर अपराधियो पर दिखाई सख्ती ने कमलनाथ को एक कुशल जनप्रतिनिधि ओर बेहतर मुख्यमंत्री साबित करने की कहानी जरूर लिख दी थी,यह कहानी अपना सम्पूर्ण आकार लेती उससे पहले अपने आंतरिक विवादों से उलझी कांग्रेस सरकार धराशायी हो गयी।
भाजपा की सरकार बनी,मुख्यमंत्री के रूप में अनेको नामों पर चर्चाए हुई किन्तु मोहर लगी शिवराज सिंह चौहान के नाम पर वे फिर मुख्यमंत्री बने प्रदेश में शिवराज सिंह की छवि एक गम्भीर नेता की है जिन्हें लम्बे समय तक प्रदेश का मुख्यमंत्री होने का अनुभव और गौरव प्राप्त है पर्याप्त प्रसासनिक अनुभव है,भाजपा उपचुनाव में भी शिवराज के चेहरे को आगे रखकर चल रही है ये चुनाव शिवराज सिंह के राजनैतिक भविष्य के लिए भी बेहद अहम है उन्होंने अनेको बार पार्टी को विजय श्री दिलवाई है उनके नेतृत्व में भाजपा प्रदेश में मजबूत स्थिति में बनी हुई है।
कांग्रेस ने एक ओर कमलनाथ के नेतृत्व मे ही अपनी बनी सरकार को खोया है ,विधायको ने दलबदल किया,बावजूद उनके नेतृत्व में ही विधानसभा के चुनाव में कांग्रेसी उत्साह और आत्मविश्वास से लबरेज है जबकि कांग्रेस का लक्ष्य अधिक कठिन है।
कांग्रेस की तुलना में भाजपा का लक्ष्य सरल है किन्तु पार्टी में जारी आंतरिक उथल-पुथल की आवाजें भाजपा के सरल लक्ष्य को भी कठिन बनाते दिखाई दे रहे है,अंसतुष्ट नेता बगावती तेवर दिखा रहे है।
इस उपचुनाव में भाजपा-कांग्रेस का आंतरिक सर्वे भी कार्यकर्ताओ ओर नेताओं के उत्साह को बना बिगाड़ रहा है,राजनीति हर पल बदल रही है नेताओं के आने-जाने का क्रम लगातार जारी है प्रदेश को इंतजार है चुनावी तारीख का ओर नजर है शिवराज के जादू ओर कमलनाथ के करिश्मे कि,कौन नेता अपने राजनैतिक अनुभव का बेहतर प्रदर्शन कर पाता है, जो जनता के मन को भा जाए , जनता जिसे अपना समर्थन देकर प्रदेश के मुख्यमंत्री की कुर्सी पर काबिज करा देवें।
———–
नरेंद्र तिवारी’एडवोकेट’
7,शंकरगली मोतीबाग सेंधवा
जिला-बड़वानी मप्र
मोबा-9425089251