टीचर्स आइकन अवार्ड 2020 से सम्मानित हुईं व्याख्याता रीता गिरी

47

टीचर्स आइकन अवार्ड 2020 से सम्मानित हुईं शासकीय कन्या उच्चततर माध्यमिक विद्यालय अघिना-सलका की व्याख्याता रीता गिरी

सूरजपुर। “जहां चाह वहां राह” इंसान में लगन हो तो कठिन से कठिन परिस्थितियां भी मार्ग की बाधा नहीं बन सकते, इस बात को चरितार्थ कर दिखाया है शासकीय कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय अघिना-सलका, विकास खंड-भैयाथान,जिला-सूरजपुर की व्याख्याता रीता गिरी ने। उन्होंने अपनी सकारात्मक सोच एवं अथक प्रयासों से विषम परिस्थितियों में पालक एवं बच्चों से फोन पर निरंतर संपर्क,व्हाट्स एप ग्रुप एवं आनलाइन शिक्षा के माध्यम से बच्चों को पढ़ाई-लिखाई के साथ-साथ आनलाइन सांस्कृतिक कार्यक्रम से भी जोड़े रखा। वैश्विक महामारी कोरोना के दरमियान राष्ट्रीय सेवा योजना के बैनर तले अपने स्वयंसेविकाओ के साथ जन-जागरूकता एवं स्वनिर्मित मास्क ग्रामीणों, श्रमिकों एवं जरूरत मंद लोगो को वितरित किया गया। शिक्षा के क्षेत्र में किए गए उत्कृष्ट एवं नवाचारी कार्य हेतु रीता गिरी को शिक्षक दिवस के अवसर पर राष्ट्र स्तरीय संस्था “उद्घोष-शिक्षा का नया सबेरा”द्वारा टीचर्स आइकान अवार्ड 2020 से सम्मानित किया गया।
शिक्षा के क्षेत्र में बच्चों को विभिन्न नवाचारी शिक्षण विधियों के माध्यम से रूचिकर शिक्षा देना, अभिव्यक्ति का अवसर प्रदान करना, महापुरुषों की जयंती एवं पुण्य तिथि पर कार्यक्रम आयोजित करना, वर्चुअल क्लास, विविध शैक्षणिक गतिविधियों के साथ-साथ स्वच्छता अभियान, बालिका शिक्षा, महिला सशक्तिकरण, नशामुक्ति अभियान,बैटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ अभियान, वृक्षारोपण आदि के माध्यम से बच्चों के सर्वांगीण विकास हेतु सदैव तत्पर रही हैं।
देश के सरकारी शिक्षा को बेहतर बनाने के उद्देश्य से गठित राष्ट्रीय अभियान “उदघोष :शिक्षा का नया सवेरा” के तत्वाधान में आयोजित वर्चुअल टीचर्स आईकन अवार्ड2020 के लिए पौने पांच हजार प्रविष्ठियां प्राप्त हुई थी।कार्यक्रम में चयनित 293 उपलब्धिवान शिक्षकों को ऑनलाईन सम्मान पत्र देकर सम्मानित किया गया।
शिक्षक दिवस के मौके पर केदार हर्बल वाटिका नगर निगम रूडकी में आयोजित संक्षिप्त कार्यक्रम के दौरान बतौर मुख्य अतिथि मेयर गौरव गोयल ने कहा कि महान विद्वान, प्रखर राजनीतिविद तथा श्रेष्ठतम शिक्षकों में शुमार देश के पूर्व राष्ट्रपति डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन की जयंती को “वर्चुअल शिक्षक दिवस” के रूप में मनाकर, नि:संदेह आयोजक मंडल साधूवाद का पात्र हैं। उनके जीवन तथा उनके कार्यों से प्रेरणा प्राप्त करके शिक्षकगण पूर्ण निष्ठा एवं समर्पण के साथ अपने कर्तव्यों का पालन करते रहें यही कामना हैं।
उन्होने कहा कि ‘शिक्षक दिवस’ विद्यार्थियों के जीवन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले शिक्षकों को समर्पित होता है। शिक्षकगण विद्यार्थियों को प्रेरणा देते हैं, ज्ञान प्राप्ति की इच्छा पूरी करते हैं और उनमें छिपी क्षमता व प्रतिभा को निखारते हैं।उन्होने इस अवसर पर, टीचर्स आईकन अवार्ड के लिये चयनित शिक्षकों को बधाई और शुभकामनाएं दी।
उन्होने बताया कि इस समूह का उद्देश्य सरकारी शिक्षा तंत्र में उर्जावान शिक्षको की एक ऐसी शैक्षिक फ़ौज तैयार करना है जिसके अंदर सकारात्मकता और क्रिएटिविटी के साथ साथ नवोन्मेषी विचारधारा का भंडार हो।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here