9 सालों में गेहूं खरीदी में 105 करोड़ रूपये का गेहूं स्कन्ध हुआ कम -वसूली की मांग

39

9 सालों में गेहूं खरीदी में 105 करोड़ रूपये का गेहूं स्कन्ध हुआ कम -वसूली की मांग

होशंगाबाद -जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक मर्यादित होशंगाबाद के अधीनस्थ होशंगाबाद एवं हरदा जिले में विगत 5 वर्षो में समर्थन मूल्य पर गेहॅू खरीदी वर्ष 2012-13 से लगायत वर्ष 2016-17 की स्थिति में 54,407,504.44 मीट्रिक टन उपार्जित किये गये गेहॅू में 132,553.90 मीट्रिक टन स्कंध की घटती/कमी पायी गयी है जिसका कीमत रूपये 1,919.64 लाख होती है तथा उसके बाद के चार सालों में 85 करोड़ सहित कुल 105 करोड़ कीमत के गेहॅू स्कंध में घटती/कमी होने पर उक्त राशि की वसूली कर्मचारियो से करने की मांग नागरिक अधिकार जनसमस्या निराकरन समिति के अध्यक्ष आत्माराम यादव ने संभागायुक्त सहित कलेक्टर से की तथा सयुंक्त आयुक्त व उपायुक्त सहकारिता को कार्यवाही हेतु पत्र सौपा गया।
उक्त घटती बैंक के सीईओ आर के दुबे एवं कर्मचारियों के मिलीभगत से होने का आरोप लगाते हुये यादव ने लिखा कि समर्थन मूल्य खरीदी में उक्त समस्त अनिमितताओं पर तत्कालीन कलेक्टर राहुल जैन ने समझते हुये वर्ष 2013-14 में होशंगाबाद जिले में 827.52 लाख रूपये की कुल घटती /कमी दर्शाने पर अधिकारियों को ऐसा न चलने देने की हिदायत देने के साथ घटती/कमी की राशि जमा कराने के निर्देश देते हुये कर्मचारियों से वसूली करने की सॅख्ती बरती गयी तथा वसूली के अभाव में पुलिस थाने में मामला दर्ज कराये जाने के भय से उसी वर्ष में 277.91 लाख रूपये की वसूली की जा चुकी है किन्तु कलेक्टर वर्ष 2014 में कलेक्टर राहुल जैन के स्थानान्तरण के पश्चात, कलेक्टर संकेत भोंडवे से वर्तमान कलेक्टर धनन्जयसिंह तक 4 कलेक्टर चले गये किन्तु किसी भी कलेक्टर ने जिला सहकारी बैंक के कार्यक्षैत्रॅ होशगाबाद जिले में 1,774.95 लाख रूपये तथा हरदा जिले में 144.69 लाख रूपये की घटती/कमी की राशि वसूली किये जाने पर ध्यान नहीं दिया और न ही वर्ष- 2017-18, वर्ष-2018-19,वर्ष 2019-20 एवं वर्ष 2020-21 के इन चार वर्षो में हुई 85 करोड़ की नुकसानी पर कोई आपराधिक कार्यवाही ही दर्ज करायी गयी। इतना ही नहीं वर्ष 2015-16 में बैंक के प्रशासक का दायित्व तत्कालीन कलेक्टर द्वारा तत्कालीन जिला पंचायत के मुख्यकार्यपालन अधिकारी अभिजीत अग्रवाल को सौंपे जाने के पश्चात होशंगाबाद जिले में 10,029.17 मीट्रिक टन एवं हरदा जिले में 173.5मीट्रिक टन की घटती/कमी हुई जो प्रशासनिक अक्षमता ही सिद्ध हुई।
नागरिक अधिकार जनसमस्या निराकरन समिति के अध्यक्ष श्री यादव के अनुसार वर्ष 2012-13 से वर्ष 2016-17 में होशंगाबाद जिले की 5 वर्षो की समर्थन मूल्य पर कुल गेहॅू खरीदी 34,949,769 मीट्रिक टन हुई और 34,827,395.12 परिदान हुआ जिसमें होशंगाबाद जिले में 122,374.83 मीट्रिक टन गेहॅू की घटती/कमी हुई जिसका कुल मूल्य 1,774.95 लाख रूपये है । तत्कालीन कलेक्टर राहुल जैन गेहॅू के इस खेल को भाँप चुके थे तब उन्होंने सख्ती की तब जाकर वर्ष 2013-14 में 827.52 लाख घटती राशि में 277.91 लाखरूपये की वसूली उसी समय हो सकी लेकिन उसके पश्चात आज गेहॅू खरीदी मद की घटती/कमी में 1,774,95 लाख रूपये की वसूली बकाया बकाया है। इसी क्रम में हरदा जिले में वर्ष 2012-13 के लगायत 2016-17 तक कुल खरीदी गेहॅू की मात्रा 19,457,734.49 मीट्रिक टन में 19,447,555.42 मीट्रिक टन गेहूंॅ परिदान होने के पश्चात 10,179.07 मीट्रिक टन की घटती/कमी का खरीदी मूल्य ं 144,.69 लाख रूपये की हानि हुई है और दोनो जिलों की यह घटती/कमी 132,553.90 मीट्रिक टन की कुल कीमत 1,919.64 लाख की नुकसानी नोडल एजेन्सी की घोर लापरवाही एवं बिना अनुबन्ध किये अव्यवस्थाओं के रहते हुई है जिसकी प्रतिपूर्ति खरीदी करने वाले सभी समिति कर्मचारियों ंसे वसूली की जाना है तथा वर्ष 2020-21 में बतौर प्रशासक सहकारिता के संयुक्त आयुक्त के होते हुये इसका न रूक पाना शर्मनाक एवं संयुक्त आयुक्त और जिला बैंक सीईओ दुबे की मिलीभगत दर्शाता है और इन्हीं कारणों से कैडर अधिकारी के बैंक में आने से रोकने हेतु संयुक्त आयुक्त की सांठगांठ को उजागर करता है। समितियों में ताला डालने की स्थिति निर्मित होने की आशंका जताते हुये श्री यादव ने उक्त राशि की वसूली संबंधितो से करायी जाने तथा जमा न करने वाले सभी संबंधितों पर पुलिस थाने में अमानत में खयानत का अपराध दर्ज कराये जाने की मांग की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here