कोरोना से बुजुर्ग महिला की मृत्यु जिला अस्पताल की लापरवाही जमीन पर खुले में घंटों पड़ा रहा शव

कोरोना से बुजुर्ग महिला की मृत्यु जिला अस्पताल की लापरवाही जमीन पर खुले में घंटों पड़ा रहा शव.संक्रमण फैलने के आसार : शनिवार को अधिकतम 18 कोरोना पॉजिटिव मरीज मिले

बैतूल
कोरोना पॉजिटिव संक्रमण से वृद्धा की मौत कोई और साथ ही आज शनिवार को अधिकतम 18 पॉजिटिव मरीज मिले।
जिले में कोरोना संक्रमण के बढ़ते दबाव के मध्य स्वास्थ्य विभाग भी लापरवाह हो गया जिसका उदाहरण शनिवार सुबह देखने को मिला।

जिला अस्पताल के कोरोना वार्ड में भर्ती एक वृद्धा 100 वर्षी उम्र की शनिवार सुबह मौत हो गई जिले में अब तक 6 मरीजों की भी की मौत हुई है। वही शनिवार अधिकतम 18 कोरोना मरीज भी मिले हैं जिससे हलकों में हड़कंप मच गया।
जानकारी के मुताबिक आठनेर निवासी 100 वर्षीय महिला शनिवार सुबह 6:00 बजे मौत हो गई । वृद्ध महिला 10 अगस्त को कोरोना पॉजिटिव पाई गई थी जिसे जिला अस्पताल को रोना वार्ड में भर्ती किया गया था। जिला अस्पताल के कोरोना वार्ड में इसी भर्ती बुजुर्ग महिला के परिवार के 6 सदस्य भी कोरोना संक्रमित है उक्त बुजुर्ग महिला ने सुबह-सुबह दम तोड़ दिया । बुजुर्ग करोना पॉजिटिव महिला की सुबह 6:00 बजे मृत्यु होने के बाद घंटों उसका शव जमीन पर खुले में पड़ा रहा। कोरोना भर्ती मरीजों के आपत्ति जताने आने के बाद उसका शव 10:30 बजे के बाद बाहर किया गया।
यह जिला अस्पताल में एक ऐसी की बड़ी चूक लापरवाही देखने को मिली । जबकि इसी वार्ड में 1 दिन का नवजात बच्चा और उसकी मां भी भर्ती थी। जिला प्रशासन की लापरवाही से कोरोना मरीज का शव कमरे में पड़े रहने से संक्रमण को और फैलने के संभावना बढ़ सकती है। पूरे मामले में अस्पताल प्रबंधन की लापरवाही उजागर हुई है जिसे दबाने की कोशिश रही ।

जिले में कोरोना संक्रमण के बढ़ते प्रभाव के साथ ही रिकॉर्ड तोड़ अधिकतम 18 मरीज भी मिले।

बैतूल से कमल सोनी सतर्क की रिपोर्ट