काव्यभाषा : स्मरण करता हमें,आजादी का दिन पंद्रह अगस्त -डॉ ब्रजभूषण मिश्र भोपाल

Email

स्मरण करता हमें,आजादी का दिन पंद्रह अगस्त

राष्ट्र हासिल करे, सब वांक्षित
हौसले होवें न पस्त
स्मरण कराता हमें,आजादी का दिन पंद्रह अगस्त

लाख आवेंगी बाधाएँ,हम तनिक न घबरायें
बढ़ें,करें, कर्तब्य हम,करें प्रयोग संसाधन समस्त
स्मरण कराता हमें,आजादी का दिन पंद्रह अगस्त

सीमा पार है दुश्मन,उस पर हो नजर हमारी
रह कर सचेत,सक्रिय,सैनिक कर दें शत्रु को त्रस्त
स्मरण कराता हमें,आजादी का दिन पंद्रह अगस्त

विकास है जरूरी, न रहे देश में मजबूरी
शिक्षित, युवा बने,आत्म निर्भर,देश करें स्वच्छ और स्वस्थ
स्मरण कराता हमें,आजादी का दिन पंद्रह अगस्त

भेद न हो जाति,धर्म,वर्ग ,क्षेत्र का
देश हित ही भाव हो,
अधिकार भूल जन सब निज कर्तव्य में हों सिद्ध हस्त
ब्रज स्मरण कराता हमें,आजादी का दिन पंद्रह अगस्त

डॉ ब्रजभूषण मिश्र
भोपाल

1 COMMENT

  1. 👌👌🙏🙏याद करता 15अगस्त शहीदों की कुर्बानी 🌹🌹

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here