दोहों में ‘ मनुआ हुआ कबीर’ का ऑन लाइन विनोचन

दोहों में ‘ मनुआ हुआ कबीर’ का ऑन लाइन विनोचन

मधुवन रेडियो,माउंटआबू पर आ. आरजे श्री रमेश जी का हार्दिक धन्यवाद, उन्होंने मुझे यहाँ साक्षात्कार का अवसर दिया और मेरी 9 वीं किताब दोहों में ‘मनुआ हुआ कबीर ‘ का विमोचन किया। जिसमें दोहे के 52 विविध विषय जैसे भारतीय संस्कृति के पर्व गणेशोत्सव से दोहों शुरू करें , नववर्ष, होली,दिवाली , छट , मकरसंक्रांति , पर्यावरण , जनतंत्र , जल , नीति आदि सामाजिक , साहित्यिक , ऐतिहासिक , आध्यात्मिक , भौगोलिक,कि नैतिक, राजनैतिक आदि विषय है । कुल 923 दोहे हैं । प्रकाशक डॉ संजीव जी दिल्ली से 1000 प्रतियाँ प्रकाशित हुई है।
इस पुस्तक ‘ मनुआ हुआ कबीर ‘ ने डॉ मंजु गुप्ता को मुम्बई , नवी मुंबई ने दोहे रच के पहली महिला कवयित्री बना दिया है ।
डॉ मंजु गुप्ता ने दीप प्रज्ज्वलित करके जयति जय जय माँ सरस्वती स्वरचित गीत से वंदना गायी।

मनुआ हुआ कबीर कृति के लोकार्पण के मुख्य अतिथि आ श्री आरजे रमेश जी , सम्मानित अतिथि संगीतकार
आ श्री पी टी उल्लास जी , आ श्रीमती प्रवीणा गौतम संगीतकार , श्री अनिल वार्ष्णेय ,डॉ आ श्रीमती डॉ स्नेह लता वार्ष्णेय , श्री पी एच गुप्ता , श्रीमती कुमुद गुप्ता ,श्री राकेश कुमार वार्ष्णेय वकील , श्री नवनीत कुमार वार्ष्णेय आई ए एस एलाइड,श्रीमती डॉ गीता वार्ष्णेय , श्री डॉ शिवरतन वार्ष्णेय आईएफएस , श्री स्वतंत्र कुमार गुप्ता, इंजीनियर , डॉ हिमानी गुप्ता , डॉ कामेध चौधरी ,डॉ शुचि गुप्ता , डॉ सिद्धार्थ द्वारा किताब का ऑन लाइन विमोचन हुआ ।
आ पीटी उल्लास जी ने मधुवन खुशबू देता गीत गाया.
कोरोना काल में जहाँ सामाजिक दूरी बनाएँ रखना जरूरी है ।इस पाबन्दी का डॉ मंजु गुप्ता ने पालन किया । आज तारीख 17 जुलाई 2020 मेरे लिए ऐतिहासिक , साहित्यिक व सामाजिक बना दी है.आदरणीय श्री रमेश भाई जी का धन्यवाद

डॉ मंजु गुप्ता
वाशी , नवी मुंबई

फोन 8080420533
writermanju@gmail.com

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here