काव्य भाषा : कोरोना संकट आज की सुरक्षा, कल की जिंदगी – एस के कपूर “श्री हंस” बरेली

कोरोना संकट।आज की सुरक्षा,
कल की जिंदगी

खुद से खुद पर ही जरा
आप कर्फ्यू लगाइये।
कॅरोना को फैलाने से बचें
और सबको बचाइये।।
जरूर हुआ अनलॉक पर
दिखानी है समझदारी।
रोज़ सावधानी की आदत
अभी सभी में जगाइये।।

यह कॅरोना अभी तो जाते
ही जा पायेगा।
अभी तो सतर्कता से साथ
इसके जिया जायेगा।।
महामारी से लड़ना और हमें
आर्थिक प्रगति करना।
सावधानी औरआदतें जिंदगी
को मौत से खींच लायेगा।।

खतरा अभी टला नहीं अधिक
सूझबूझ माँगता है।
कॅरोना तो कोई भी भेदभाव
नहीं जानता है।।
आज की थोड़ी सी सावधानी
कल को बचायेगी।
बचेगा नहीं जो जानबूझ कर
लक्ष्मण रेखा लांघता है।।

एस के कपूर “श्री हंस”
बरेली।

मो 9897071046
8218685464

1 COMMENT

  1. श्री हंस जी बहुत सुंदर कविता संदेश। बधाई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here