ग्राम पाडल्यामाल में मंदिर निर्माण के उपलक्ष्य में भव्य कलश यात्रा निकली : हजारों की संख्या में मातृशक्ति हुई शामिल

50

ग्राम पाडल्यामाल में मंदिर निर्माण के उपलक्ष्य में भव्य कलश यात्रा निकली : हजारों की संख्या में मातृशक्ति हुई शामिल

खंडवा।
हरसूद विधान सभा के अंतर्गत ब्लॉक खालवा के ग्राम पाडल्या माल में शिव मंदिर की स्थापना हुई, इस मौके पर ग्राम पाडल्यामाल के प्रमुख रामचंद्र राठौर ने बताया कि अरसे से मेरी ओर मेरी धर्म पत्नी कुसुम बाई की सनातन धर्म के प्रति भाव और गांवों की भगवान के प्रति आस्था को देखते हुए मंदिर का निर्माण कराया गया। ग्राम के किसान विपिन राठौर ने कहा कि भगवान शिव के प्राण प्रतिष्ठा के शुभ अवसर पर इस मंदिर का निर्माण हमारे वरिष्ठ और मेरे पिता श्री रामचंद्र राठौर के नेतृत्व में किया गया। समाजसेवी सुनील जैन ने बताया कि मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा के अवसर पर हजारों की संख्या में मातृशक्ति एवं ग्रामीण तथा हजारों की संख्या में क्षेत्रवासियों की उपस्थिति में कलश यात्रा निकाली गई और सभी ने उपस्थिति होकर आयोजक परिवार को आशीर्वाद प्रदान किया तथा धार्मिक उत्सव में भाग लिया और अपनी आस्था के प्रति खुशी जाहिर की। कलश यात्रा में लोगों ने अपनी भक्ति और श्रद्धा का भाव व्यक्त किया। इस दौरान धार्मिक उल्लास के अनुशासन में, पंडितो और संतो की सानिध्य में मंदिर में पूजा अर्चना की तथा लोगों द्वारा हजारों की संख्या में शामिल होकर प्रसादी ग्रहण की। इस उत्सव के दौरान लोग एक-दूसरे के साथ मिलकर खुशियों का अनुभव करते हुए भजनों पर नृत्य करते रहे और इस आनंद के पल ने गाँव की एकता को और मजबूत किया। बल्कि यह गाँव के समस्त सामाजिक एवं धर्म विकास में भी महत्वपूर्ण योगदान भूमिका निभाएगा, इसके साथ ही समारोह ने हमारे क्षेत्र एवम ग्राम की एकता को मजबूत किया और हमें एक साथ लाकर एक नया संदेश दिया, हम सभी एक साथ मिलकर सर्व समाज के प्रति कार्य करते रहेंगे। इस उत्सव के माध्यम से पटाजन के रामपाल गनवानिया ने बताया कि हम सभी को धार्मिक एवं मानवीय मूल्यों को अपने जीवन में शामिल करने की। इस मंदिर से प्रेरणा मिलती रहेगी और आगे बढ़ते हुए हमें धार्मिकता, सामाजिकता और सहयोग के साथ अपने गाँव को धार्मिक एकता के सूत्र में बांधेंगे। इस पावन आयोजन का सभी ने मिलकर इस अद्भुत क्षण का आनंद उठाया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here