बाफना मिडोज,पालघर के रहवासियों ने किया सामूहिक हनुमान चालीसा का पाठ

बाफना मिडोज,पालघर के रहवासियों ने किया सामूहिक हनुमान चालीसा का पाठ

पालघर।
22 जनवरी को अयोध्या में प्रभु श्रीराम जी की प्राण-प्रतिष्ठा को लेकर पूरे देश ही नहीं बल्कि विश्व भर में जहाँ जहाँ भी रामभक्त हैं-उत्साह का माहौल था।भारत तो पूरी तरह से राममय था।देश के हर एक कोने में दीपावली जगमगा रही थी।अपनी तरफ से पूरा देश एक आनंद में डूबा था।हर शहर में विभिन्न प्रकार के कार्यक्रम आयोजित किए गए।बच्चों से लेकर बूढ़ों तक के चेहरे दमक रहे थे और हो भी क्यों नहीं।हमारे पूर्वजों ने अपनी आँखों के सामने जिन मंदिरों को टूटते देखा आज उन्हीं मंदिरों को स्थापित होते हमारी आँखें देख रही हैं।बड़ा ही सुखद संयोग है।

बाफना मिडोज,पालघर के रहिवासियों ने भी आगे बढ़कर इस उत्सव को सम्मिलित रूप से खूब उत्साह के साथ मनाया।योगेश तिवारी,शिवम गुप्ता व आशीष बाजपेयी की अगुवाई में पूरी कालोनी ने अपना हाथ बँटाया और इस उत्सव को जी भरकर जीया भी।
पंडित राजू शर्मा की रामायण मंडली ने बड़े ही सुंदर ढंग से श्री सुंदरकांड का लयबद्ध तरीके से सस्वर पाठ किया।सामूहिक हनुमान चालीसा का पाठ हुआ।भजन सुनकर रहिवासी झूम उठे।कालोनी की महिलाओं द्वारा 1101 दिये जलाकर दीपोत्सव कार्यक्रम संपन्न किया गया।

पटाखों की रोशनी ने दीपावली-उत्सव को जीवंत कर दिया।बच्चों ने बढ़-चढ़ कर हिस्सा लिया।महिला-पुरूष सभी प्रमुदित व प्रफुल्लित थे।शांतिलाल जैन,मेहुल पटेल,समीर मानकामे,धीरेंद्र तिवारी,विद्याधर शुक्ल,अविनाश पाटील,विलास बरनवाल,चंद्रकांत घुले व तरूण बोरिचा आदि की गणमान्य उपस्थिति रही।वायल तात्या,अशोक तेलोरे व एस. एन. देशमुख ने आगे बढ़कर अपना विशेष योगदान दिया।रात्रिभोज रामप्रसाद के साथ ही कार्यक्रम समाप्त हुआ और एक अविस्मरणीय यादों को हृदय में सँजोये सभी रहिवासी एक-दसरे से विदा लिए।