Photo of The day

राष्ट्रीय चिकित्सा दिवस पर लायन्स क्लब खण्डवा ने किया चिकित्सकों का सम्मान खण्डवा। लायन्स क्लब खण्डवा द्वारा राष्ट्रीय चिकित्सा दिवस पर नगर के चिकित्सकों का सम्मान किया गया। जानकारी देते हुये नारायण बाहेती ने बताया कि अध्यक्ष अखिलेश गुप्ता सचिव,...
पौधारोपण,नशा मुक्ति,साहित्य,संगोष्ठी, प्रतिभा सम्मान कर मनाया जन्मदिन एवं पांचवा स्थापना दिवस नर्मदापुरम । स्वर्णकार युवा क्रांति मंच ने अपना पांचवां स्थापना दिवस पूरे देश मनाया गया । वहीं नर्मदापुरम स्वर्णकार युवा क्रांति मंच ने अपना पांचवां स्थापना दिवस...
शिक्षक समाज में हमेशा ज्ञान का संवाहक होता है- डॉ अशोक कुमार तिवारी " राजौआ में हुआ प्राचार्य त्रिपाठी का भव्य विदाई समारोह" सागर। "भारतीय समाज में शिक्षक का स्थान सर्वोपरि है वह समग्र मानव समाज को ज्ञान का संवाहक होता है।...

काव्य भाषा : मेरी टूटी – फूटी नाव -अमृता अग्रवाल, नेपाल

मेरी टूटी - फूटी नाव जानती हूं मैं....! मेरी चेतना की नाव टूटी - फूटी है, जिसे मैंने परम अनंत सागर में उतारा है। मगर कोई तो है! जोड़ने...

काव्य भाषा : मानवता – डॉ सुषमावीरेंद्र खरे सिहोरा जबलपुर

मानवता जाने कहां खो गई है आज हम इंसानों की मानवता । राग द्वेष में लिपटकर विलुप्त हो रही है मानवता । पल में सर कलम करने...

काव्य भाषा : रथयात्रा – राजेश तिवारी ‘मक्खन’ झांसी

रथयात्रा जय जय जगन्नाथ भगवान । जय जय जगन्नाथ भगवान ।। पावन पुरी पवित्र धाम में विराजें कृपा निधान ।। विराजे है बलभद्र दाऊ जी और संग...

फोटो ऑफ़ द डे

नागरिक पत्रकारिता : बूंद बूंद पानी को तरस रहा न्यास -विनोद कुशवाहा,इटारसी

बूंद बूंद पानी को तरस रहा न्यास महोदय , इन दिनों शहर की न्यास कॉलोनी के...

पत्र संपादक के नाम : एक टुकड़ा आसमान : नायक का चरित्र संतुलित है...

  एक टुकड़ा आसमान : नायक का चरित्र संतुलित है महोदय ,    विगत् दिनों "अखिल भारतीय साहित्य...

समीक्षा : प्रकृति से जुड़ी हुई कविताएं हैं सुश्री संध्या सर्वटे के काव्य संग्रह...

प्रकृति से जुड़ी हुई कविताएं हैं सुश्री संध्या सर्वटे के काव्य संग्रह प्रकृति के रंग में समीक्षक -डॉ.सुजाता मिश्र हमारे जीवन में जितने भी रंग...

समीक्षा : किरदारों के साथ न्याय की नाकाम कोशिश  करता उपन्यास है – एक टुकड़ा...

समीक्षा : किरदारों के साथ न्याय की नाकाम कोशिश  करता उपन्यास है - एक टुकड़ा आसमान उपन्यास - एक टुकड़ा उपन्यास लेखक - विनोद कुशवाहा प्रकाशक...

समीक्षा : स्त्री-अस्तित्व,स्वाभिमान और गरिमा के सतत संघर्ष की अनुपम गाथा है उपन्यास-‘शिखण्डी:स्त्री देह...

स्त्री-अस्तित्व,स्वाभिमान और गरिमा के सतत संघर्ष की अनुपम गाथा है उपन्यास-'शिखण्डी:स्त्री देह से परे' उपन्यास - शिखण्डी : स्त्री देह से परे लेखिका - शरद सिंह प्रकाशक...

विविध