जन्माष्टमी पर नोएडा से किरण मिश्रा की कविता

September 2, 2018 Devendra Soni 0

#प्रेम_मदिरा_में_तन_मन_घुलाती_रही” श्याम मोहक छवि दिल बसाती रही, प्रेम मदिरा में तन मन घुलाती रही! वो तो कान्हा को प्रियतम बुलाती रही ! वो तो किशना […]

कटनी मध्यप्रदेश से जन्माष्टमी पर किरण मोर की रचना पढ़िए – प्रार्थना

September 1, 2018 Devendra Soni 0

जन्माष्टमी पर विशेष – प्रार्थना हे शंख चक्र गदाधारी आओ एक बार फिर से जग में, विषाद फैला चहुंओर शंखनाद करने की घड़ी आई फिर […]

नई दिल्ली से सुरेखा अग्रवाल की नई कविता – नवचेतना शब्दों की ..

August 31, 2018 Devendra Soni 1

नई कविता – नवचेतना शब्दों की.. *************** आतुर हूँ एक नवचेतन की धुरी पाने को। जहाँ बसते हो शब्दों के कस्बाई लोग जागरूक हथेलियों पर […]