Devendra Soni March 26, 2020

महादेवी
🙏🌷🙏
————-
घनगंभीर निर्झरिणी
करूणा वरूणा निर्मल,
उर्वर करने सदा प्रवाहित
ममता सलिला अविकल!

————–
मनःअश्रु को पोंछ देती
रहती सदा सुक्ष्म संवेदन,
सूक्ष्म अनुश्रवण कर लेती
तृणों के करूण क्रंदन!

————–
आखों की पुतलियाँ बताती
मानवीय चिन्तन की गहराई,
नारी अस्मिता की प्रहरी सी
श्री मृगनयन झुकाई सकुचाई!

————–
नवदुर्गा प्रकृति भद्रा की
शाश्वत स्वरूप सतत ऊर्जा,
वियोगी दुखी को संबल देती
भरती अपनी अंकवारी भुजा!

————–
तुम नारी की सबल शक्ति हो
ऋचासाममय श्रद्धा भक्ति हो,
तुम शिव की शिवा विश्वाधार
देवी त्रय प्रकट अभिव्यक्ति हो!

—————————
अंजनीकुमार’सुधाकर
~~~~~~~~~~~
-महादेवी जी को सादर समर्पित!

1 thought on “बिलासपुर से अंजनी कुमार सुधाकर की रचना – महादेवी

  1. महादेवी जी नारी शक्ति की श्रद्धा रूप हैं जिनकी काव्यमय स्तुति से वंदना करने में आनन्द का अनुभव होता है ।

Leave a comment.

Your email address will not be published. Required fields are marked*