Devendra Soni February 12, 2020

*डॉ शरद सिंह जयपुर पैरेलल लिटरेचर फेस्टिवल में आमंत्रित*

सागर। सागर नगर की वरिष्ठ लेखिका, स्तम्भकार एवं ‘पिछले पन्ने की औरतें’, ‘कस्बाई सिमोन’ आदि अपने उपन्यासों के लिए देश-विदेश में चर्चित कथाकार डॉ (सुश्री) शरद सिंह को जयपुर राजस्थान में 21-23 फरवरी 2020 को आयोजित होने जा रहे ‘पैरेलल लिटरेचर फेस्टिवल-2020’ (पीएलएफ) में हिन्दी साहित्य पर चर्चा के लिए स्पीकर के रूप में आमंत्रित किया गया है। जहां वे विभिन्न सत्रों में स्त्री की आवाज: महिला लेखन, अनसुनी आवाजें: थर्ड जेंडर विमर्श जैसे विषयों पर अपने विचार साझा करेंगी तथा आदिवासी युवा और दरकते सपने: राजनीति के जंगल में भटकते जनजातियों के सवाल पर मॉडरेशन करेंगी। उल्लेखनीय है कि डॉ शरद अब तक चंडीगढ़, अजमेर, लखनऊ, इन्दौर आदि लिटरेचर फेस्टिवल्स सहित दिल्ली में आयोजित ‘‘साहित्य आजतक’’ लिटरेचर फेस्टिवल में बतौर स्पीकर साहित्य पर महत्वपूर्ण चर्चाएं कर चुकी हैं। साहित्य के बाजारीकरण के विरुद्ध प्रगतिशील लेखक संघ राजस्थान द्वारा आयोजित इस तीसरे समानांतर साहित्य उत्सव में लीलाधर मंडलोई, ममता कालिया, सुधा आरोड़ा, राजेश बादल, रामशरण जोशी आदि चर्चित साहित्यकार, पत्रकार शामिल होंगे। पांच मंचों पर तीन दिनों में आयोजित होने वाले लगभग सौ सत्रों में साहित्य और कला संस्कृति के साथ समाज तथा राजनीति से जुड़े तमाम मुद्दों पर भी चर्चा होगी।

Leave a comment.

Your email address will not be published. Required fields are marked*