कौशल बंधना पंजाबी की रचना -स्त्री धर्म का पालन कर

स्त्री धर्म का पालन कर

तुम एक जननी हो
तुमने पुत्र को जन्म दिया
वह भी जननी है,
जिसकी कोख को,
तेरे पुत्र ने उजाड़ दिया।
अब तू फैसला कर
इन्साफ कर,दे सज़ा स्वयं,
नीच पुत्र को मारकर।
सोच,जो तेरी बेटी होती,
बलात्कार का शिकार हुई,
बेटी के स्थान पर।
तू भी इक औरत है,
पहले स्त्री धर्म का पालन कर।
दे सजा, स्वयं की कोख को,
नीच, अधर्मी पुत्र को,
मौत के घाट उतार कर।

कौशल बंधना पंजाबी

2 Comments

  1. धन्यवाद युवा प्रवर्तक मेरी रचना को स्थान देने हेतु।

  2. धन्यवाद युवा प्रवर्तक मेरी रचना को स्थान देने हेतु।

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*