सरगुजा से रचना सोनी की कविता – जय हनुमान

….जय हनुमान …..

हवा में उड़ता जाए
मेरा हनुमान बजरंग बली
मेरा महावीर बजरंग बली
जय हो ! जय हो!

उड़ते उड़ते लंका पहुँचे
सीया की खबर ले आए
रघुवर की मुद्रिका दिखा
अपनी पहचान बताए -2
हवा में उड़ता …………….

उड़ते उड़ते पर्वत पर पहुँचे
संजीवनी बूटी लाए
श्री लखन के प्राण बचाए
राम भक्त कहलाये -2
हवा में उड़ता……………

उड़ते उड़ते लंका जलाए
विध्वंस मचाकर आए
जय श्री राम, जय श्री राम
जय जय कार कराए-2
हवा में उड़ता …………….

उड़ते उड़ते झंडा लहराए
राम को जीत दिलाए
राम से बढ़कर राम का नाम
भक्तों में अलख जगाए-2
हवा में उड़ता ………………

रचना सोनी
सीतापुर सरगुजा

Please follow and like us:
0

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*