Devendra Soni April 17, 2019

सोशल मीडिया पर चल रही भ्रामक खबरो के संबंध में वास्तविक स्थिति

होशंगाबाद/17,अप्रैल,2019/ मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी व्हीएल कांताराव ने स्पष्ट किया है कि आपके पास भले ही वोटर आईडी हो परन्तु मतदाता सूची में नाम नही है तो आप मतदान नही कर सकते। सोशल मीडिया पर इस बारे में चलाई जा रही भ्रामक खबर पर आप पोलिंग बूथ पहुँचते हैं और यदि मतदाता सूची में आपका नाम नही है तो आप आधार कार्ड या वोटर आईडी दिखाकर भी चुनौती वोट मांगते हुए मतदान कर सकते हैं के कारण आयोग ने स्थिति स्पष्ट की है।
मतदाता अपना नाम मतदाता सूची में होने की पुष्टि दध्द्मद्र.त्द पोर्टल पर अपने दूरभाष या मोबाइल से 1950 टोल फ्री नंबर डायल कर अपने क्षेत्र के निर्वाचन रजिस्ट्रीकरण अधिकारी, सहायक निर्वाचन रजिस्ट्रीकरण अधिकारी के कार्यालय में मतदाता सूची में अपना नाम देख सकते हैं। यदि मतदाता सूची में नाम नही है तो मतदाता सूची में निरन्तर प्रक्रिया के तहत नाम जोड़ने के लिए आवेदन कर सकते हैं। मतदाता सूची में नाम नही होने पर आवेदन आनलाइन दध्द्मद्र.त्द पोर्टल पर या निर्वाचक रजिस्ट्रीकरण अधिकारी के कार्यालय में जाकर आवेदन फार्म 6 में प्रस्तुत कर सकते हैं।
इसके अतिरिक्त सोशल मीडिया पर यह खबर भी चल रही है कि आप मतदान करने जाते हैं और यदि आप पाते है किसी ने पहले से ही आपका वोट डाला है तो टेंडर वोट मांगे और अपना वोट डाले। आयोग ने स्पष्ट किया है कि यह सही है लेकिन फोटो आधारित मतदाता सूचियो के तथा वोटर स्लिप के साथ-साथ मतदाता पहचान पत्र या आयोग द्वारा निर्धारित पहचान के दस्तावेज के फलस्वरूप ऐसा न के बराबर होता है।
ऐसी भ्रामक खबर भी सोशल मीडिया में पोस्ट की जा रही है कि 14 प्रतिशत टेंडर वोट होंगे तो ऐसे मतदान केन्द्रों पर पुर्नमतदान आयोजित किया जाएगा, यह खबर पूर्णत: गलत है। मतदान के दूसरे दिन केन्द्रीय प्रेक्षक की उपस्थिति में सभी मतदान केन्द्रो की स्क्रूटनी की जाती है। यह भी देखा जाता है कि ऐसी कोई घटना तो नही हुई है जिससे मतदान की शुचिता प्रभावित हुई हो। उक्त रिपोर्ट आयोग को प्रेषित की जाती है। तत्पश्चात ही आयोग के निर्देश पर पुर्नमतदान की कार्यवाही होती है।

Leave a comment.

Your email address will not be published. Required fields are marked*