Devendra Soni April 15, 2019

अभ्यर्थी द्वारा प्रारूप 5 में देना होगा नाम वापसी का नोटिस

होशंगाबाद/15,अप्रैल,2019/ भारत निर्वाचन अयोग के निर्देशो के अनुसार यदि कोई अभ्यर्थी अपनी उम्मीदवारी से नाम वापस लेना चाहता है तो इसके लिए उसे प्रारूप 5 में हस्ताक्षरित नोटिस रिटर्निंग अधिकारी को देना होगा। अभ्यर्थी द्वारा यह नोटिस उम्मीदवारी की वापसी के लिए नियत अंतिम तारीख को दोपहर 3 बजे तक हर हाल में रिटर्निंग अधिकारी को सौंपना होगा। समयसीमा के बाद नाम वापसी के प्राप्त नोटिस को रिटर्निंग अधिकारी द्वारा मान्य नही किया जाएगा। निर्वाचन आयोग के अनुसार अभ्यर्थी से नाम वापस लेने का नोटिस अभ्यर्थी स्वयं या उनके प्रस्तावको में से कोई एक प्रस्तावक अथवा उसके निर्वाचन अभिकर्ता द्वारा रिटर्निंग अधिकारी को सौंपा जाना चाहिए। यदि अभ्यर्थी स्वयं नाम वापसी का नोटिस देने रिटर्निंग अधिकारी के समक्ष नही उपस्थित हो सकता है तो ऐसी सूरत में उसे अपने निर्वाचन अभिकर्ता या प्रस्तावक को नाम वापसी का नोटिस सौंपने के लिए लिखित में अधिकृत करना होगा। निर्वाचन आयोग ने स्पष्ट किया है कि उम्मीदवारी से नाम वापस लेने का नोटिस नामांकन पत्रो की संवीक्षा का काम पूरा होने के बाद उसी दिन उसके अगले दिन भी रिटर्निंग अधिकारी को दिया जा सकता है। लेकिन एक बार नाम वापसी का नोटिस रिटर्निंग अधिकारी को सौंपे जाने के बाद उसे किसी भी सूरत में वापस नही लिया जा सकेगा। उम्मीदवारी से नाम वापस लेने की समयसीमा के बाद रिटर्निंग अधिकारी नाम वापसी के प्राप्त नोटिसो को प्रारूप 6 में अपने कक्ष के बाहर नोटिस बोर्ड पर प्रदर्शित करेंगे। निर्वाचन आयोग के निर्देशो के अनुसार नाम वापसी की समयसीमा समाप्त होने के बाद रिटर्निंग अधिकारी प्रारूप 7ए में चुनाव लडने वाले उम्मीदवारो की अंतिम सूची तैयार करेगा और उन्हें प्रतीक चिन्ह का आवंटन करेंगे तथा पहचान पत्र जारी करेंगे।

Leave a comment.

Your email address will not be published. Required fields are marked*