अधिकारी वाट्सएप, फेसबुक पर राजनैतिक पोस्ट न करें – कमिश्नर

अधिकारी वाट्सएप, फेसबुक पर राजनैतिक पोस्ट न करें – कमिश्नर
होशंगाबाद/14,मार्च, 2019/ नर्मदापुरम् संभाग कमिश्नर श्री रविन्द्र मिश्रा ने शिक्षा विभाग, आदिमजाति कल्याण विभाग, सामाजिक न्याय विभाग तथा पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग की समीक्षा बैठक में अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे आदर्श आचरण संहिता का पालन करना सुनिश्चित करें तथा इस अवधि में किसी भी प्रकार का राजनैतिक मैसेज या पोस्ट फेसबुक, वाट्सएप या अन्य किसी सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर न करें। कमिश्नर ने कहा कि अधिकारी पूरी तरह निष्पक्ष रहते हुए चुनावी ड¬ूटी को अंजाम दें। इस दौरान यदि किसी अधिकारी ने कोई राजनैतिक मैसेज किया तो उसके विरूद्ध नियमानुसार कार्यवाही सुनिश्चित की जायेगी। कमिश्नर ने कहा कि सभी अधिकारी चुनाव संबंधी नियमों का अध्ययन कर लें इसके लिए ईसीआई की साईट पर जाकर जारी आचार संहिता के नियम को पढ़कर उसका भलीभांति अध्ययन कर लें। कमिश्नर ने कहा कि सभी विभाग चुनाव के दौरान अपने अधिकारियों के लिए दिशा निर्देश जारी करते है उस दिशा निर्देश का पालन सभी अधिकारी पूरी मुस्तेदी से करें। उन्होंने कहा कि यदि किसी कर्यालय में या कार्यालय के आसपास राजनीति से जुड़े व्यक्तियों के बैनर पोस्टर या छायाचित्र है तो उसे तत्काल हटा दें या ढंक दें।
कमिश्नर ने कहा कि चुनाव आचार संहिता के दौरान विभागीय कार्य करने की मनाही नही है किन्तु इस संबंध में चुनाव आचार संहिता का भी पालन किया जाए। कोई भी ऐसा कार्य न किया जाए जो योजनाओं को प्रदर्शित करता हो। उन्होंने कहा कि अधिकारी एवं कर्मचारी राजनैतिक आयोजन में न जाए। किसी कार्य को करने में यदि कठिनाई का सामना करना पड रहा है तो विभाग के सक्षम अधिकारी या चुनाव आयोग से परामर्श अनिवार्य रूप से लिया जाए। बैठक में उन्होंने बोर्ड परीक्षाओं के संबंध में जानाकारी ली तथा जिला शिक्षा अधिकारी को निर्देश दिए कि वे जिले में संचालित संवेदनशील एवं अति संवेदनशील परीक्षा केन्द्रों की जानकारी उपलब्ध कराएं। उन्होंने कक्षा 10 वीं के बाद ड्राप आउट बच्चों की जानकारी भी ली तथा जिला शिक्षा अधिकारी को निर्देश दिए कि बड़ी संख्या में ड्राप आउट होने वाले बच्चो के बारे में जानकारी जुटाई जाए कि वे किस कारण से ड्राप आउट हो रहे हैं। कमिश्नर ने शाला त्यागी बच्चो के लिए बनाए गये छात्रावास की जानकारी ली। बैठक में बताया गया कि आदिमजाति कल्याण विभाग के द्वारा संचालित स्कूल के छात्रों को जेईई मैन्स परीक्षा के लिए पीपीटी एवं प्रोजेक्टर के माध्यम से कोचिंग दी जा रही है। कमिश्नर ने कहा कि प्राथमिक एवं माध्यमिक शाला में शिक्षक पढ़ाने जाए यह हर हाल में सुनिश्चित किया जाए। कमिश्नर ने कहा कि प्राय: यह देखा गया है कि गाँव में स्थित प्राथमिक एवं माध्यमिक शाला में शिक्षक नादारत रहते हैं।
बैठक में सभी संबंधित अधिकारीगण मौजूद थे।

Please follow and like us:
0

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*