जयपुर से कुन्ना चौधरी की कविता – तस्वीर

तस्वीर

लेकर ज़िन्दगी से अलग अलग रंग ,
एक तस्वीर में आओ कुछ भरे रंग …

मौज मस्ती सुख दुख या हो परेशानी ,
समय लाता जीवन में इन्द्रधनुषी रंग ….

माना आसान नहीं जीवन की तस्वीर बनाना ,
राग द्वेष छोड़ चलो खेले सद्भावना के रंग …

परिस्थिति लाती बेबसी नाकामी के गहन अंधेरे ,
संयम,समझ से आओ उसमें भरे हम उत्साह के रंग …

तन और धन में आती रहती ऊँच नीच की धूप ,
मन पर न चढ़ने दे पर हम कभी उदासी के रंग …

जीने के ढंग से बनती समाज में हमारी छवि अनूठी ,
विवेक से भर लें चलो इसमें हम सात्विक रंग …..

रह जायेंगें अपनों की यादों में सुखद तस्वीर बन ,
प्रेम और सेवा से जो भर सके दिलों मे अमिट रंग ….

– कुन्ना चौधरी , जयपुर

Please follow and like us:
0

1 Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*