नागरिक पत्रकारिता में रायसेन से पढिए सईद नादाँ का आँखों देखा हाल – नाले में बहे युवक को साहसी युवकों की टोली ने बचाया

आँखों देखी :- ……

” रायसेन में नाले में बहे युवक को साहसी युवकों ने जान हथेली पर रखकर बचाया ”

रायसेन :-
सोमवार को हुई तेज बारिश के कारण रायसेन में चारों तरफ जब पानी ही पानी हो रहा था। रायसेन का भोपाल , विदिशा एवं सागर से सड़क संपर्क टूट गया था । जहां के मार्गों पर पड़ने वाले प्रायः सभी नदी नाले उफान पर थे , दरगाह वाले नाले पर करीब 5 से 7 फिट पानी होने से भोपाल -रायसेन मार्ग बंद हो गया था और सागर रोड स्थित टोल नाके के पास वाली पुलिया पर भी 3 से 4 फीट पानी होने के कारण आवागमन बन्द हो गया था ।
लेकिन अपनी जिद पर अड़ा एक व्यक्ति सांची थाना अंतर्गत ग्राम धनिया खेड़ी निवासी गणेश यादव पिता कोमल सिंह यादव रायसेन में साइनिंग स्कूल में पढ़ने वाले अपने पुत्र से मिलने के बाद अपने रिश्तेदार के घर ग्राम नादनेर से होकर वापस अपने गांव ग्राम धनिया खेड़ी जा रहा था उसने उफनते नाले को पार करने के लिए अपनी बाइक डाली तो नाके के कर्मचारियों ने उसे बहुत मना किया लेकिन वो नहीं माना और उफनते नाले को पार करने की कोशिश में उसका संतुलन बिगड़ गया और वो बाइक सहित तेज बहाव पानी में बहता हुआ चला गया । ये दृश्य देखने वाले लोगों में हड़कम्प मच गया और कुछ लोगों ने पुलिस व आपदा राहत दल को घटना की सूचना दी । लेकिन बहुत देर बाद भी जब पुलिस नहीं पहुंची तो रायसेन के साहसी युवकों में रुपेश तंतबार , भजन गायक सतीश शाक्य ,राहुल कुशवाहा , आशीष समाधिया, लोकेश रजक , विकेश चौहान, महेंद्र श्रीवास्तव ,भैया रैकवार , गोलू पंड्या ,राकेश गुर्जर, मयंक श्रीवास्तव ,रमन मेहरा ने वहां ड्यूटी पर मौजूद ASI आर के चौबे को साथ लेकर अपने स्तर से रस्सी , टार्च ट्युव जैसे संसाधन जुटाए ओर उन्हें लेकर उस व्यक्ति को जो कि पेड़ पर चढ़ गया था और अपने को बचाने की गुहार लगा रहा था बचाने में जुड़ गए ।
शाम 8:00 बजे से अपनी जान बचाने के लिए पेड़ पर चढ़े उक्त व्यक्ति को बचाने की कोशिश में लगी युवाओं की टोली ने 7:30 घंटे मशक्कत करने के बाद पेड़ पर चढ़े गणेश यादव को बहुत देर की मशक्कत के बाद सुरक्षित निकाल लिया । इस बीच आपदा पीड़ित बचाव दल के होम गार्ड्स भी पहुंच गए थे ।
बुरी तरह से घबराए हुए युवक को पास के राजपूत ढाबे में लाकर पहले तो आग से उसे गर्म किया गया लेकिन उसकी तबीयत को देखते हुए पुलिस ने जिला चिकित्सालय ले जाकर उसे भर्ती कर दिया और उसके रिश्तेदारों को इसकी सूचना देकर बुलवाया लिया था ।
पानी में बहे यादव की बाइक नहीं मिल पाई थी, जो कि पुलिस ने सुबह दिन में खोज निकाली उक्त युवकों एवं एएसआई आरके चौबे की वहां मौजूद सैकड़ों लोगों ने मुक्तकंठ से प्रशंसा करते हुए जिला प्रशासन से उन्हें पुरस्कृत करने की मांग की है ।

चित्र :-गणेश यादव एवं उसे बचाने वाली साहसी युवकों की टोली ।
21.8.18

नोट :- घटना से लेकर उसको निकलने तक के समय में मैं भी मौजूद था । भोपाल से वापसी के समय जहां रुक गया था ।
सईद नादां , बेंगमगंज ।

Please follow and like us:
0

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*