Month: December 2019

Devendra Soni December 31, 2019

*अमेरिका से भारत यात्रा पर आए हिन्दी सेवियों को भाषा सारथी सम्मान से किया सम्मानित* दिल्ली। अमेरिका की अग्रणी हिन्दी सेवी संस्थान हिन्दी यूएसए ने वहाँ हिन्दी सिख रहें बच्चों को भ्रमण के लिए हिंदुस्तान लाए, उन बच्चों को सोमवार को दिल्ली में मातृभाषा उन्नयन संस्थान द्वारा ‘भाषा सारथी सम्मान’ से संस्थान की दिल्ली प्रदेश […]

Devendra Soni December 31, 2019

रजा पुरस्कार के लिये प्रविष्टियाँ आमंत्रित होशंगाबाद/31,दिसम्बर, 2019/ उस्ताद अलाउद्दीन खां संगीत एवं कला अकादमी द्वारा रजा पुरस्कार के लिये 15 फरवरी 2020 तक प्रविशिष्टयां आमंत्रित की गई है। यह पुरस्कार वर्ष 2012 से 2019 तक कविता और चित्रकला के लिये प्रदान किया जाएगा। रजा पुरस्कार के लिये प्रदेश के 42 वर्ष तक आयु के […]

Devendra Soni December 31, 2019

सूर्योदय एक नया होगा खोने के गम के साथ साथ, कुछ पाने की अभिलाषा है। जो तांडव देखा इन आंखों ने,उसे छोड़ शांति की आशा है।। दुर्घटनाओं के काल चक्र ने, अपनों को हमसे छीन लिया। भारत माँ का आँचल छलनी कर,अच्छे सपनों को लील गया।। अरदास करुं इस साल यही, न मिले किसी को […]

Devendra Soni December 31, 2019

21 नए कहानीकार होंगे सुस्थापित : कमल की कलम का जयघोष- ‘साहित्यमेव जयते’ इंदौर। भाषा-संशय-शोधन एवं हिन्दी-व्याकरण के क्षेत्र में अभूतपूर्व कार्य करते हुए मातृभाषा उन्नयन संस्थान के राष्ट्रीय महासचिव एवं आईटीबीपी में उप सेनानी कमलेश कमल द्वारा साहित्य के नव-पल्लव कहानीकारों को आगे लाने का एक अभिनव प्रयास किया जा रहा है। ‘कमल की […]

Devendra Soni December 31, 2019

पचमढ़ी महोत्सव की अंतिम संध्या रही गजलों के नाम ग़ज़ल गायिका पीनाज मसानी ने दी शानदार प्रस्तुतियां होशंगाबाद/31,दिसम्बर, 2019/ पचमढ़ी महोत्सव की अंतिम संध्या पर प्रख्यात ग़ज़ल गायिका शहजादी तरन्नुम की उपाधि प्राप्त पीनाज जी मसानी ने गजलों की शानदार प्रस्तुति दी। गायिका पीनाज जी मसानी ने गणेश वंदना से अपने गजलों की शुरुआत की […]

Devendra Soni December 31, 2019

देखो लौट गया ये साल देखो लौट गया ये साल नया साल खुशियों की आमद लेकर आएगा जरूर।। गए साल मे जो कुछ नहीं बदला, वो नए साल मे बदलेगा जरूर।। हौंसले पक्के है जो कुछ नहीं मिला, वो इस साल मे मिलेगा जरूर।। मंजिलों पर निगाहें टिकाए रखना, तुम्हारे कदमों की रफ्तार से रास्ता […]

Devendra Soni December 31, 2019

” गुजस्ता साल ” कल जब तूं हो जायेगा यादोँ का गुजश्ता, तेरी याद सतायेगी बहुत बन कागज का गुलदस्ता! तेरे पसंदीदा पहचान के फाहे अतर के, छुपा रखा हूँ वो शीशी अब भी जतन से! तूं खिला खिला भीगीं गमक से; होने का एहसास कराये रूहानी धमक से! चले हैं साथ साथ नापे हैं […]

Devendra Soni December 31, 2019

*कविता – नव वर्ष* नव वर्ष स्वीकार करो बदलो सब व्यवहार गया पुराना साल अब पहनाओ उसे हार । लम्हा लम्हा करके गुजरा गुजर गया एक साल आगमन है नये वर्ष का अपनी खुशियां सम्भाल । शस्य श्यामला धरती माता हो हरी भरी खुशहाल नये वर्ष का मौसम ऐसा नहीं हो कोई बवाल । कुछ […]

Devendra Soni December 31, 2019

न बदलें हम बदल रहा है साल किन्तु, न बदले हम। सम्बन्धों का हमारे निकले ना कभी दम। स्नेह और सम्मान हमारा बना रहे। बुराईयों का मन में आना मना रहे। सुख,समृध्दि,स्वास्थ्य प्रगति सदा करे। नववर्ष हम सभी में नव चेतना भरे। शुभ कामना यही है शुभ भावना यही। बदले भले ही साल सम्बन्ध हो […]

Devendra Soni December 31, 2019

पुस्तक चर्चा – पत्र तुम्हारे लिए लुप्त प्राय विधा के लिए एक सशक्त प्रयास आकर्षक आवरण वह भी विषयवस्तु के अनुसार पत्र तुम्हारे लिए पुस्तक मेरे समक्ष है ।साहित्य जगत उसमें समाज के सन्देश के आदान प्रदान वाली कभी लोकप्रिय रहने वाली विधा जोकि आज लुप्तप्राय है पत्र साहित्य पर केन्द्रित इस कृति का संपादन […]