Month: November 2019

Devendra Soni November 30, 2019

वैश्य महासम्मेलन के संस्थापक सदस्य का जन्मदिन मना वृद्धाश्रम में फल और कंबल वितरित किये इटारसी। वैश्य महासम्मेलन मप्र के संस्थापक सदस्य रमेशचंद्र अग्रवाल के 75 वे जन्मदिवस के मौके पर संगठन के सदस्यों ने शनिवार की शाम को यहां रोटरी क्लब द्वारा संचालित वृद्धाश्रम अपनाघर में बुजुर्गों को फल एवं कंबल वितरित किये। इस […]

Devendra Soni November 30, 2019

कुत्सित दृष्टि नारी देह को लेकर क्यों कुत्सित दृष्टि तुम्हारी है। समझे जो नारी को भोग्या, करता जीने का अधिकारी है।। विकल वेदना देकर उसको, मन में फूले नहीं समाते हो। नहीं कांपते हाथ तुम्हारे , जब नारी को जलाते हो । तुम हो शोषक तो क्या वह केवल शोषण की अधिकारी है।। समझे….. असहाय […]

Devendra Soni November 30, 2019

नशा मुक्त का प्रचार करने संभाग के जिलो में शासकीय कलापथको के दल द्वारा प्रचार-प्रसार जारी होशंगाबाद/30,नवम्बर,2019/ उप संचालक सामाजिक न्याय ने बताया है कि प्रदेश को नशा मुक्त करने तथा विभागीय योजनाओ का शासकीय कलापथक दलो के माध्यम से 15 नवम्बर से 31 मार्च 2020 तक संभाग के होशंगाबाद, बैतूल एवं हरदा में कार्यक्रम […]

Devendra Soni November 30, 2019

कितनी बार मैं तुमको नामर्द लिखूं? कितनी बार मैं बेटी,तेरा दर्द लिखूं कितनी बार दरिंदे, मैं तुमको नामर्द लिखूं। कब तक रूदन करूं, मैं हालात पर, कब तक करूं अफ़सोस, नामर्द तेरे आघात पर। कब तक बोटी बोटी नोची जाएगी, कब जाकर सत्ता कठोर फैसले ले पाएगी। करूणा कहां से लाऊं मैं हालात पर रोष […]

Devendra Soni November 30, 2019

*#शर्मनाक ,बेहद शर्मनाक * विरोध करने वालो का ताताँ लगा हुआ है । ग़ुस्सा उबल रहा है हर आँख में , बहुसंख्यक है लोग विरोध करने वाले , फ़ेसबुक पर , बाज़ारों और गलियों में , घटित होती है जब कोई घटना , ज़ोर -शोर से हर गली- गलियारा गूँजता है , हम सब एक […]

Devendra Soni November 30, 2019

ग़ज़ल बँधा है जो प्रेम के अनुबंध से, बच गया संसार के भी द्वंद्व से, श्वास में सरगम बजे जब प्रेम का, हृदय भर जाता मनोरम गंध से, प्रेम की अद्भुत कहानी है यही, जुड़ गया नाता भ्रमर मकरंद से, फूल कलियों पर रवानी आ गई, हवाओं बहना ज़रा अब मंद से, झड़ न जाए […]

Devendra Soni November 30, 2019

*हैदराबाद की घटना से मन दहल गया* *मन की व्यथा दोहा के माध्यम से* हुआ हैदराबाद में, शर्मनाक यह वार । फिर से बहने डर गयी, पुरुषों पर धिक्कार ।। कितनी ऐसी बेटियां, दे देती है जान । ऐसा शिक्षित है समाज, पापी को देते मान ।। बार – बार है हो रहा, दुष्कर्मों का […]

Devendra Soni November 30, 2019

यह रिश्ता क्या कहलाता है यह रिश्ता क्या कहलाता है है नही कोई पारिवारिक रिश्ता और न ही कोई नाता पर क्यो है यह रिश्ता भाता मन स्नेह से हमेशा खिचता जाता जिन्हे खोने का डर सताता दूर होकर भी लगता अपने पास कैसे नहीं कहे हम उन्हे खास यह रिश्ता क्या है कहलाता शायद […]

Devendra Soni November 30, 2019

मधुर स्मृति अच्छे थे मिटटी के घर! रहते धे सब मिल-जुलकर! खुले-खुले-से थे आँगन, व्यस्त हुआ करते थे कर! चूल्हे थे सब माटी के! भारतीय परिपाटी के! हांडी में पकती थी दाल, बड़े मज़े थे बाटी के! रहती थी देशी खटिया! आसन होता था पटिया! थे उसूल के सब पक्के, लोग नहीं थे गिरगिटिया! थी […]

Devendra Soni November 30, 2019

जिन्दगी तू बड़ी अजीब है जब जब पकड़ना चाहा तुझे तो लगा हथेलियों में कई कई उंगलियाँ उग आई हों संगीत की,साहित्य की ध्यान, योग, सत्संग की भजन कीर्तन, राग रंग की कुछ नये शौक उपज आए भूली बिसरी अभिरुचियाँ भी जाग गईं वो बचपन के खेल मन में हलचल मचाने लगे महसूस हुआ दामन […]