समीक्षा

Devendra Soni March 16, 2020

पुस्तक समीक्षा ********* अनुपम सकारात्मक अर्थपूर्ण विचारों का संकलन है : मनोहर सूक्तियां समीक्षक – सूर्यदीप कुशवाहा पुस्तक – मनोहर सूक्तियां सूक्तिकार – हीरो वाधवानी प्रकाशक – के. बी. एस. प्रकाशन संस्करण – प्रथम 2020 मूल्य – 450 /- रूपये ISBN – 978-93-86716-91-0 इस अनुपम सकारात्मक अर्थपूर्ण जीवन देने वाली पुस्तक मनोहर सूक्तियां के के […]

Devendra Soni March 11, 2020

पुस्तक चर्चाः *कृति- डेमोक्रेसी स्वाहा *लेखक- सौरभ जैन *प्रकाशक- भावना प्रकाशन, दिल्ली *पृष्ठ-128 *मूल्य-195/- व्यंग्य और हास्य का बेहतरीन संतुलनः डेमोक्रेसी स्वाहा चर्चाकार- संदीप सृजन बहुत छोटी उम्र में व्यंग्य के क्षेत्र में अपनी पैठ बना चुके सौरभ जैन का हाल ही में पहला व्यंग्य संग्रह ‘डेमोक्रेसी स्वाहा’ भावना प्रकाशन, दिल्ली से प्रकाशित हुआ है। […]

Devendra Soni March 7, 2020

समीक्षा – पुस्तक – पगडंडी टू हाईवे लेखक – संजय कुमार अविनाश प्रकाशक – बेस्ट बुक बड्डीज, नयी दिल्ली पृष्ठ – 204 मूल्य – 300रूपये (हार्डबैक) “मुझसे मिलना चाहो तो मेरे रूबरू आना, मुझे जानना चाहो तो मेरी कविता में तलाशना।” जी हाँ, अगर आप संजय अविनाश को जानना चाहते हैं तो उसकी तलाश में […]

Devendra Soni March 6, 2020

0 समीक्षा खुशियों के गुप्तचर [ कविता संग्रह ] – गीत चतुर्वेदी निशां चुनते चुनते [ कहानी संग्रह ] – विवेक मिश्र लंबी अस्वस्थता के बाद , दो-एक दिनों से , दिन कुछ अच्छे लगने लगे हैं और अब मेरे सामने हैं वसंत ऋतु के अलग-अलग शेड्स की दो किताबें , एक कवि और एक […]

Devendra Soni February 29, 2020

*नाट्य समीक्षा* चरित्र के दोहरेपन को उजागर करने वाले नाटक ‘‘कुत्ते’’ का सफल मंचन – डॉ. वर्षा सिंह, नाट्य समीक्षक सीमित संसाधनों में नाटक की मंचीय प्रस्तुति को किस प्रकार सफलता के शिखर पर पहुंचाया जा सकता है, यह ‘कुत्ते’ नामक नाटक के मंचन को देख कर अनुभव किया जा सकता है। अन्वेषण थिएटर ग्रुप […]

Devendra Soni February 26, 2020

समीक्षा -‘नारी हूँ मैं ‘ की रचनाएँ नारी की ताक़त को दर्शाती हैं – सुखमंगल सिंह प्रस्तुत संग्रह ‘नारी हूँ मैं ‘ डॉ उपासना पाण्डेय द्वारा रचित समकालील सृजन की सदुपयोगी कविताएं पढ़ते हुये हृदयंगम करती रचनाएं ईशावास्योपनिषद का याद कराने लगती हैं जिसमे ‘लोक में कर्म करते हुए ही सौ वर्ष जीने की इक्षा […]

Devendra Soni February 22, 2020

उपन्यास चर्चा – ” बनते- दरकते – बनते” रिश्तो की यथार्थ अभिव्यक्ति का पारिवारिक दस्तावेज है उपन्यास- खटटे मीठे से रिश्ते “दो प्रेमी , दो परिवार और उनसे जुड़े कुछ लोगों के कार्य व्यवहार से “बनते- दरकते – बनते” रिश्तो की यथार्थ अभिव्यक्ति का पारिवारिक दस्तावेज है – गरिमा संजय का उपन्यास – ” खट्टे […]

Devendra Soni February 22, 2020

पुस्तक समीक्षा पुस्तक : स्वर्णपात्र ( वैदिक कविताएँ) रचनाकार: डॉ.मुरलीधर चांदनीवाला, ‘मधुपर्क’ ७ प्रियदर्शिनी नगर,रतलाम ४५७००१ संपर्क: (०७४१२)२६३१४२, मोबाइल: ९४२४८६६४६० पृष्ठ: 215 कीमत: 300 रू. प्रकाशक: वरेण्यम- अर्यमा हाउस ऑफ क्रिएशन्स, रतलाम , मध्य प्रदेश बहुत ही पावक ग्रंथ ऋग्वेद की ऋचाओं से निस्तरित ज्ञान के पुंज सम इन कविताओं की समीक्षा करना थोड़ा कठिन […]

Devendra Soni February 19, 2020

पुस्तक समीक्षा देखन मे छोटे लगे – हाइकू कृति – मैं सागर सी  (हाइकू तांका संग्रह) कवि – मंजूषा मन प्रकाशक – पोएट्री पुस्तक बाजार , लखनऊ पृष्ठ  – ९६ मूल्य – १४०.०० समीक्षक- विवेक रजंन श्रीवास्तव,   ए 1 एमपीर्इबी कालोनी रामपुर जबलपुर  न्यूनतम शब्दो मे अधिकमत बात कहने की दक्षता ही कविता की […]

Devendra Soni February 8, 2020

पुस्तक चर्चा मेरे हमराह काव्य संग्रह आर डी आनंद प्रकाशक रवीना प्रकाशन ,दिल्ली आई एस बी एन ९७८८१९४३०३९८५ मूल्य २५० रु प्रथम संस्करण २०१९  स्त्री और पुरुष को एक दूसरे का विलोम बताया जाता है  , यह सर्वथा गलत है प्रकृति के अनुसार स्त्री व पुरुष परस्पर अनुपूरक हैं . वर्तमान समय में स्त्री विमर्श […]